Sports

खेल डैस्क : पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को एशिया कप 2022 की राह में बड़ा झटका लगा है। नीदरलैंड खेलने गए पाकिस्तान टीम के गेंदबाज शाहीन अफरीदी चोटिल हो गए हैं। इस कारण उनका एशिया कप में खेलना संदिग्ध हो गया है। शाहीन का बाहर होना इसलिए भी पीसीबी के लिए चिंताजनक है क्योंकि भारत-पाक के पिछले एनकाऊंटर में शाहीन अफरीदी ने ही टॉप भारतीय बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई थी। यह मुकाबला पाकिस्तान ने 10 विकेट से जीता था। अब एशिया कप में संभवत: भारत और पाकिस्तान के 2 मुकाबले होते संभव दिख रहे हैं लेकिन शाहीन का ऐसे बाहर होना पीसीबी को झटका दे गया है।

Sports

नीदरलैंड दौरे पर गई पाकिस्तान टीम के कप्तान बाबर आजम ने बीते दिनों शाहीन की चोट पर अपडेट दिया था। उन्होंने कहा था कि शाहीन धीरे-धीरे रिकवरी कर रहे हैं। हम नहीं चाहते कि नीदरलैंड दौरे पर उन्हें कोई अन्य चोट आए। शाहीन अफरीदी की गैरहाजिरी में हम नए गेंदबाजों को मौका देने की कोशिश करेंगे। एशिया कप के बाद टी-20 विश्व कप भी नजदीक है। हम कोशिश करेंगे कि बैस्ट निकालकर सामने लाएं। 

शाहीन अफरीदी के बाहर होने से भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड भी राहत महसूस कर रहा होगा। टीम इंडिया के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह भी चोट के चलते एशिया कप से बाहर हैं। ऐसे में बीसीसीआई पाकिस्तान से होने वाले पहले मुकाबले को लेकर अब संतुष्ट होगा। 

Sports

पाकिस्तान टीम और उनके मैच
बाबर आजम (कप्तान), शादाब खान, फखर जमां, हैदर अली, हैरिस रॉफ, इफ्तिखार अहमद, खुशदिल शाह, मोहम्मद नवाज, मोहम्मद रिजवान, मोहम्मद वसीम जूनियर, नसीम शाह, शाहीन अफरीदी, शाहनवाज दहानी, उसमान कादिर।

28 अगस्त बनाम भारत, दुबई शाम 7.30 बजे
2 सितंबर बनाम क्वालिफायर, शारजहा शाम 7.30 बजे

 

बता दें कि पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर दानिश कनेरिया ने बीते दिनों अपने यूट्यूब चैनल पर भारतीय बल्लेबाजों को शरीर के करीब गेंदें खेलने की सलाह दी। उन्होंने कहा था- शाहीन अफरीदी से डरने की जरूरत नहीं है क्योंकि भारत के पास रोहित शर्मा और विराट कोहली जैसे विश्वस्तरीय बल्लेबाज हैं। उन्होंने कहा कि टीम इंडिया को इस बात से अवगत रहने की जरूरत है कि शाहीन फुलर गेंदबाजी करने और गेंद को अंदर की तरफ स्विंग कराने के लिए जाएंगे। इसलिए भारतीय बल्लेबाजों को पैर निकालने के बजाय शरीर के करीब से खेलना चाहिए। स्क्वेयर लेग पर सूर्यकुमार यादव के फ्लिक शॉट भी शाहीन की गेंदबाजी के खिलाफ अहम होंगे।