Sports

खेल डैस्क : किसी भी भारतीय खिलाड़ी चाहे वो अनुबंधित हो चाहे सेवानिवृत्त, उसे भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड द्वारा दक्षिण अफ्रीका और संयुक्त अरब अमीरात की दो आगामी टी 20 लीगों में शामिल होने की अनुमति नहीं दी गई है। आईपीएल में खेलने वाले किसी भी प्लेयर को इन विदेशी लीगों में मेंटर बनने की इजाजत नहीं दी जाएगी। इसका मतलब यह है कि धोनी चेन्नई सुपर किंग्स की दक्षिण अफ्रीका लीग में मौजूद टीम को मेंटर नहीं कर पाएंगे। धोनी अभी भी सीएसके के लिए खेल रहे हैं। 

 

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर बताया कि यह स्पष्ट है कि घरेलू खिलाडिय़ों सहित कोई भी भारतीय खिलाड़ी तब तक किसी अन्य लीग में भाग नहीं ले सकता जब तक वह खेल के सभी रूपों से सेवानिवृत्त नहीं हो जाता। अगर कोई खिलाड़ी इन आगामी लीगों में भाग लेना चाहता है तो वह ऐसा तभी कर सकता है जब वह बीसीसीआई के साथ सभी संबंधों को खत्म कर दे। यह पूछे जाने पर कि क्या धोनी जैसा खिलाड़ी मेंटर या कोच के रूप में इस तरह की लीग का हिस्सा हो सकता है, बीसीसीआई अधिकारी ने कहा- तब वह सीएसके के लिए आईपीएल नहीं खेल सकते। उसे पहले यहीं रिटायर होना होगा।

 

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के छह मालिकों ने साउथ अफ्रीका टी-20 लीग में टीमें खरीदी हैं। क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका का कहना है कि आईपीएल से मुंबई, लखनऊ, हैदराबाद, चेन्नई, राजस्थान और दिल्ली फ्रेंचाइजी के मालिक अब केप टाउन, डरबन, गकेबेरा (पूर्व में पोर्ट एलिजाबेथ) के मालिक हैं। इनमें जोहान्सबर्ग, पार्ल और प्रिटोरिया भी शामिल है। यूएई टी20 लीग में पहले से ही भारतीय मालिकों के साथ छह में से पांच फ्रेंचाइजी हैं, जिनमें से तीन की आईपीएल में टीमें हैं। मुंबई इंडियंस, दिल्ली कैपिटल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स ने यूएई टी20 लीग में निवेश किया है। कोलकाता नाइट राइडर्स, पंजाब किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के मालिक पहले ही कैरेबियन प्रीमियर लीग में निवेश कर चुके हैं।
 

.
.
.
.
.