Sports

नई दिल्ली: भारत के चोटिल तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह कमर के निचले हिस्से में लगी चोट (स्ट्रेस फ्रैक्चर) पर विशेषज्ञों को राय लेने के लिए इंग्लैंड जाएंगे। इस चोट के कारण बुमराह कम से कम दो महीने तक भारतीय टीम से बाहर हो गए। इस दौरान वह दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला में भाग नहीं ले पाएंगे। साढ़े तीन साल के करियर में यह पहली बार होगा जब बुमराह चोट के कारण इतने लंबे समय तक टीम से दूर रहेंगे। 


PunjabKesari
बीसीसीआई के एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर बताया कि, ‘बीसीसीआई स्ट्रेस फ्रैक्चर के इलाज के लिए बुमराह को लंदन भेज रहा है। इस दौरान एनसीए के फिजियोथेरेपिस्ट आशीष कौशिक उनके साथ रहेंगे। बीसीसीआई ने तीन अलग-अलग विशेषज्ञों से राय लेने के लिए समय लिया है।' उन्होंने कहा, ‘बुमराह छह या सात अक्टूबर को एक सप्ताह के लिए इंग्लैंड रवाना हो सकते है। उनकी आगे की योजना तीन चिकित्सकों से मिली राय पर निर्भर करेगा। हमने इस मामले सर्वश्रेष्ठ चिकित्सकों से राय ली है।' 

PunjabKesari
टीम को दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश के खिलाफ विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में बुमराह की कमी खलेगी। पच्चीस साल का यह गेंदबाद पिछले दो वर्षों में टीम का मुख्य गेंदबाज बन कर उभरा है। उन्होंने 12 टेस्ट में 62 विकेट जबकि 58 एकदिवसीय में 103 विकेट चटकाएहै। टी20 में उनके नाम 42 मैच में 51 विकेट है। भारत के पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने रविवार को कहा कि जसप्रीत बुमराह का स्ट्रेस फ्रैक्चर उनके अलग तरह के एक्शन के कारण नहीं है और ऐसे मामले में ठीक होने की कोई समय सीमा नहीं होती है। बुमराह दो महीने में ठीक हो सकते हैं या फिर छह महीने तक मैदान से दूर रह सकते हैं।

.
.
.
.
.