Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) की अनुशासनात्मक समिति ने मुंबई सिटी एफसी के खिलाड़ी अहमद जाहोऊ को भविष्य के इंडियन सुपर लीग मैचों के दौरान लापरवाही भरे बर्ताव को दोबारा दोहराने की स्थिति में कड़े प्रतिबंध की चेतावनी दी। 

अनुशासनात्मक संस्था ने 21 नवंबर को हुए मैच के दौरान हुई घटना के वीडियो फुटेज को देखा जिसे समीक्षा के लिए भेजा गया था। इसके बाद संस्था ने जाहोऊ के पहले हाफ में नार्थईस्ट यूनाईटेएफ एफसी के खिलाड़ी खासा कामारा को लापरवाही से गिराने को गंभीर अपराध माना जिससे मैदान पर प्रतिद्वंद्वी की सुरक्षा को खतरा थामोरक्को के जाहोऊ को रैफरी ने इसके लिए लाल कार्ड दिखाया जिसमें नार्थईस्ट यूनाईटेड ने 1-0 से जीत हासिल की।

एआईएफएफ की समिति ने सीधे लाल कार्ड दिखाने की घटना की समीक्षा की जिसमें मुंबई सिटी एफसी का मिडफील्डर अहमद जाहोऊ शामिल था। उसने खिलाड़ी को चेताया है कि इस तरह की घटना के दोहराव से उन पर एआईएफएफ अनुशासनात्मक संहिता के प्रावधानों के अनुसार कड़ा प्रतिबंध लगाया जा सकता है। उनके खिलाफ कोई और अनुशासनात्मक कार्रवाई नहीं की गयी है लेकिन लाल कार्ड दिखाने से वह एक मैच में नहीं खेलेंगे जो बुधवार को एफसी गोवा के खिलाफ होगा। 

.
.
.
.
.