Sports

नई दिल्ली : कोरोना वायरस महामारी के कारण खेल ठप होने से मशहूर निशानेबाज अभिषेक वर्मा फिर से वकालत शुरू करेंगे। वर्मा को वकालत और निशानेबाजी के बीच संतुलत बिठाने का पूरा यकीन है। कम्प्यूटर विज्ञान में बीटेक वर्मा साइबर अपराध से जुड़े मामलों पर काम करना चाहते हैं। विश्व कप में दो स्वर्ण पदक जीत चुके वर्मा पिछले कुछ अर्से से लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।

उन्होंने पीटीआई से कहा- पहले मैं ओलंपिक के बाद वकालत फिर शुरू करना चाहता था लेकिन अब ओलंपिक एक साल के लिए टल गए हैं। इसलिए मैंने इसी साल फिर से वकालत करने का फैसला किया। चूंकि मैंने कम्प्यूटर विज्ञान पढ़ा है तो साइबर अपराध से जुड़े मामलों में खास रूचि है।

पिस्टल निशानेबाज वर्मा के पिता पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के न्यायाधीश है और उन्होंने हमेशा अपने पिता को बंदूकधारी अंगरक्षकों से घिरा देखा है। महामारी के कारण चंडीगढ़ में अपने घर में रह रहे वर्मा ने घर के भीतर ही मिनी जिम बना रखा है। उन्होंने कहा- मैं दो ही बार बाहर निकला हूं। एक बार अपना चश्मा बनवाने और दूसरी बार जिम के उपकरण खरीदने के लिए। इसके अलावा वह योग और ध्यान पर भी काफी समय दे रहे हैं।

.
.
.
.
.