Sports

नई दिल्ली : ओलंपिक में अपनी छाप छोड़ने को बेताब भारतीय निशानेबाज तोक्यो में अगले साल पहले दो दिन में ही पदक जीत सकते हैं क्योंकि अधिकांश शीर्ष निशानेबाज पहले और दूसरे दिन ही रेंज पर उतरेंगे। दुनिया की नंबर एक निशानेबाज अपूर्वी चंदेला और सातवीं रैंकिंग वाली अंजुम मुद्गिल 25 जुलाई को महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी। अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी खेल महासंघ ने सोमवार को कार्यक्रम जारी किया। इसी दिन सौरभ चौधरी और अभिषेक वर्मा भी पुरूषों की 10 मीटर एयर पिस्टल में चुनौती पेश करेंगे। 

दूसरे दिन 26 जुलाई को मनु भाकर और यशस्विनी सिंह देसवाल महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल में उतरेंगी बशर्ते कोटा की अदल बदल ना हो। पुरूषों की 10 मीटर एयर राइफल में अभी तक भारत के दिव्यांश सिंह पंवार ने ही कोटा हासिल किया है। भारत के लिए अब तक देसवाल, संजीव राजपूत, मुद्गल, चंदेला, चौधरी, वर्मा, दिव्यांश, राही सरनोबल और भाकर तोक्यो ओलंपिक का कोटा हासिल कर चुके हैं । महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में चंदेला विश्व रैंकिंग में नंबर एक और इलावेनिल दूसरे स्थान पर हैं। 

तीन मिश्रित टीम टूर्नामेंटों के प्रारूपों को भी प्रशासनिक परिषद ने मंजूरी दे दी। टीम का हर सदस्य पहले 30 मिनट में 30 शाट लगायेगा। पहले क्वालीफिकेशन दौर से शीर्ष आठ रैंकि वाली टीमों के मूल अंक रहेंगे। दूसरे राउंड में टीम के हर सदस्य को 20 मिनट में 20 शाट मिलेंगे। पहले और दूसरे रैंक वाली टीम स्वर्ण पदक के मुकाबले में आमने सामने होंगी। 

.
.
.
.
.