Sports

पेरिस : गैर वरीयता प्राप्त स्लोवेनिया की खिलाड़ी तमारा जि़दानसेक ने 33वीं सीड स्पेन की पौला बदौसा को मंगलवार को तीन सेटों के संघर्ष में 7-5, 4-6, 8-6 से हराकर वर्ष के दूसरे ग्रैंड स्लेम फ्रेंच ओपन के महिला सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया जबकि चौथी वरीयता प्राप्त अमेरिका की सोफिया केनिन चौथे दौर में सोमवार को हारकर बाहर हो गई। जिदानसेक ने बदौसा से यह मुकाबला दो घंटे 26 मिनट के संघर्ष में जीता और सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली खिलाड़ी बन गई।

केनिन को 17 वीं सीड यूनान की मारिया सक्कारी ने बड़ी आसानी से लगातार सेटों में 6-1, 6-3 से पराजित किया। सक्कारी ने यह मुकाबला मात्र एक घंटे आठ मिनट में जीता और क्वाटर्र फ़ाइनल में पहुंच गयीं। पिछली चैंपियन और इस बार आठवीं वरीयता प्राप्त पोलैंड की इगा स्वीयतेक यूक्रेन की मार्ता कॉस्ट्युक को एक घंटे 32 मिनट तक चले मुकाबले में 6-3, 6-4 से हराकर अंतिम आठ में पहुंच गई।

इस तरह इस साल आठ क्वाटर्रफाइनलिस्ट में से छह पहली बार किसी ग्रैंड स्लेम के अंतिम आठ में पहुंची हैं। आधी शताब्दी से ज्यादा समय से चल रहे ओपन युग में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ है, इससे पहले 2001 और 1976 के फ्रेंच ओपन और 1969 के ऑस्ट्रेलियन ओपन में पांच क्वाटर्रफाइनलिस्ट पहली बार पहुंची थीं। इन खिलाड़ियों में से एकमात्र ग्रैंड स्लेम विजेता स्वीयतेक हैं जो 20 साल की हैं। स्वीयतेक का क्वाटर्रफाइनल में यूनान की सक्कारी से मुकाबला होगा।
 

.
.
.
.
.