Sports

नई दिल्ली : भारतीय महिला हॉकी कोर ग्रुप 10 दिन के ब्रेक के बाद रविवार को बेंगलुरू में राष्ट्रीय शिविर में तोक्यो ओलंपिक खेलों की तैयारियां फिर शुरू करेगा। पच्चीस सदस्यीय ओलंपिक कोर ग्रुप ट्रेनिंग शुरू करने से पहले अनिवार्य पृथकवास से गुजरेगा। जनवरी में टीम ने अर्जेंटीना का दौरा किया था, जहां उसने घरेलू टीम की जूनियर, बी टीम और सीनियर टीम (विश्व रैंकिंग में दूसरे स्थान) के खिलाफ सात मैच खेले थे। यह टीम का 12 महीनों में पहला दौरा था। फरवरी में टीम जर्मनी के दुसेलदोर्फ गई थी, जहां उसने मेजबानों की सीनियर टीम के खिलाफ चार मैच खेले थे।

मुख्य कोच शोर्ड मारिन ने कहा- इन मैचों का मिलना हमारे लिए काफी अहम था ताकि हम अभी किस स्तर पर हैं, इसका आकलन कर सकें और ओलंपिक से पहले कुछ विशेष क्षेत्रों में सुधार के लिए क्या जरूरी है, यह पता कर सकें। उन्होंने कहा- आगामी शिविर में भी, हम इन्हीं क्षेत्रों पर ध्यान लगाएंगे और साथ ही अपनी फिटनेस को प्राथमिकता में रखेंगे। 

भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) ने कोविड-19 मामलों के बढऩे के बाद पूरे देश में अपने विभिन्न राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्रों में नौ अप्रैल को तीन हफ्ते की गर्मियों की छुट्टियों की घोषणा की थी लेकिन कहा था कि ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले खिलाड़ी अपने शिविरों में ट्रेनिंग जारी रखेंगे।

.
.
.
.
.