Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : ईस्ट बंगाल (ईबी) के नये कोच रॉबी फाउलर ने शनिवार को कहा कि उनकी टीम 20 नवंबर से शुरू होने वाली इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में गेंद को अपने पास रखने की कोशिश के साथ छोटे-छोटे पास देकर रोमांचक फुटबॉल खेलेगी। कोलकाता की यह टीम पहली बार आईएसएल का हिस्सा बनी है, जिसने इंग्लैंड के इस पूर्व अंतरराष्ट्रीय और लीवरपूल के महान फुटबॉलर को दो सत्र के लिए कोच नियुक्त किया है।कोविड-19 महामारी के कारण आईएसएल को गोवा के तीन स्थलों पर खेला जाएगा।

फाउलर ने इंस्टाग्राम लाइव सत्र में कहा कि  हम सही तरीके से खेलेंगे। मेरे लिए सही तरीका का मतलब है कि गेंद आपके पैरों के पास रहे और लंबे पास देने की जगह छोटे-छोटे पास देकर दूसरे खिलाड़ियों की मदद करें।’’उन्होंने कहा, ‘‘ हम लंबे पास देने से बचेंगे, हम गेंद को अपने पास रखने की कोशिश करेंगे। हम गेंद पर अपने हाफ में रखने की जगह विरोधी टीम के हाफ में ले जाकर रोमांचक फुटबॉल खेलेंगे और जीतेंगे। सबसे अच्छा तरीका यही है कि विरोधी टीम को दबाव में रखा जाए।’’
कोरोना वायरस महामारी के कारण अन्य खेलों की तरह आईएसएल का आयोजन भी दर्शकों के बिना खाली स्टेडियम में होगा।

लीवरपूल के इस दिग्गज खिलाड़ी ने कहा, ‘‘ हम इसमें कुछ नहीं कर सकते लेकिन निकट भविष्य में ऐसा समय होगा जब हम जोश से भरे प्रशंसकों के सामने खेलेंगे। मैं कोलकाता की यात्रा करने और अगले वर्ष एक सफल टीम के साथ खेलने के अलावा और कुछ नहीं चाहूंगा।’’टीम आईएसएल से देर से जुड़ी और जिसके पास तैयारी के लिए सिर्फ दो महीने का समय था। फाउलर ने कहा कि टीम को इस मामले में दूसरी टीमों की जल्दी बराबरी करनी होगी।

 

.
.
.
.
.