Sports

शारजाह : बांग्लादेश को टी-20 विश्व कप में तीन रन से हराने के बाद वेस्टइंडीज के कार्यवाहक कप्तान निकोलस पूरन ने कहा कि नियमित कप्तान कीरोन पोलार्ड का ब्रेक से लौटकर बल्लेबाजी करते हुए आखिरी गेंद पर लगाया गया छक्का निर्णायक साबित हुआ। पोलार्ड 13वें ओवर में तबीयत खराब होने के कारण बाहर चले गए थे हालांकि उनके जाने के कारण का पता नहीं चल सका है। वह आखिरी ओवर में बल्लेबाजी के लिए लौटे और आखिरी गेंद पर छक्का लगाया।

पूरन ने मैच के बाद कहा कि वह ठीक लग रहा है। मेडिकल टीम उसके साथ काम कर रही है और उसे कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। वह शानदार कप्तान है और उसने मैदान पर लौटकर आखिरी गेंद पर छक्का लगाया। हम भविष्य में उसके जैसा बनना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि सभी खिलाडिय़ों का मुझे पूरा सहयोग मिला। हम सारे कैच नहीं लपक सके लेकिन हमें यकीन था कि हम जीतेंगे। अपने अनुभव पर भरोसा करके हमने जीत दर्ज की।

आखिरी ओवर आंद्रे रसेल को देने के बारे में उन्होंने कहा कि इस विकेट पर उसकी गेंदबाजी कारगर साबित होती। वह बड़ा खिलाड़ी है और उसने हमारे लिए कर दिखाया। बांग्लादेश के कप्तान महमूदुल्लाह ने कहा कि 19वें ओवर में लिटन दास का विकेट गिरने से मैच उनके हाथ से निकल गया।

उन्होंने कहा कि लिटन का विकेट बहुत महत्वपूर्ण था क्योंकि हम दोनों क्रीज पर जमे हुए थे। अगर वह छक्का चला जाता तो कुछ और कहानी होती। लंबे फील्डर होने का यही फायदा होता है। लिटन ने ड्वेन ब्रावो की गेंद पर ऊंचा शॉट खेला लेकिन सीमारेखा पर खड़े लंबे कद के जैसन होल्डर ने कैच लपक लिया।

.
.
.
.
.