Sports

नई दिल्ली : पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और कोच वकार युनिस ने भी पाकिस्तान के पूर्व कप्तान सरफराज अहमद को भारत के खिलाफ अहम मैच में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनने के फैसले को मुर्खतापूर्ण बताया है। वकार ने कहा- इंग्लैंड में खेले गए वनडे विश्व कप में पाकिस्तान ने एक गलती भारत के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को कमजोर आंककर भी कर दी। मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर 16 जून 2019 को खेले गए इस मैच में भारत ने डकवर्थ लुइस प्रणाली से पाकिस्तान को 89 रन से करारी शिकस्त दी थी।

टॉस जीतकर गेंदबाजी करना मूर्खतापूर्ण फैसला 

वकार ने कहा- मुझे लगता है टॉस जीतकर पाकिस्तान का गेंदबाजी करना मूर्खतापूर्ण फैसला था। उस पिच पर पहले बल्लेबाजी कर बड़ा स्कोर के साथ दबाव बनाना चाहिए था। उस दिन पाकिस्तान के गेंदबाजों को मदद नहीं मिली और भारत का प्रदर्शन कमाल का था। विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ यह भारत की 7वीं जीत थी जबकि पाकिस्तान अभी तक एक भी मैच जीतने में सफल नहीं रहा है। 

पिच से नहीं मिली मदद

वकार ने कहा- पाकिस्तान को लगा था कि वह पहले गेंदबाजी कर भारतीय शीर्षक्रम को सस्ते में निपटा देगा जिससे भारतीय टीम दबाव में आ जाएगी, लेकिन भारत के पास शीर्षक्रम में शानदार बल्लेबाज थे। उन्होंने कहा- मुझे लगता है पाकिस्तान ने उस मैच में टॉस जीत कर गेंदबाजी का करने का गलत फैसला कर लिया था। पाकिस्तान को उम्मीद थी कि शुरूआत में पिच से तेज गेंदबाजों को मदद मिलेगी और टीम भारत के सलामी बल्लेबाजों को जल्दी पवेलियन भेज कर दबाव बना लेगी।

सचिन की 98 रन की पारी सर्वश्रेष्ठ

वकार ने विश्व कप में सचिन की पाकिस्तान के खिलाफ 2003 में खेली गई 98 रनों की पारी को सर्वश्रेष्ठ करार दिया। दक्षिण अफ्रीका में खेले गए इस मैच में 274 रन के चुनौतीपूर्ण स्कोर का पीछा करते हुए तेंदुलकर ने ताबड़तोड करिश्माई बल्लेबाजी की लेकिन शतक से दो रन से चूक गए। भारत ने इस मैच को छह विकेट से जीता था। वकार बोले- जिस तरह सचिन ने शोएब अख्तर, वसीम अकरम और मेरे ऊपर दबाव बनाया और जिस तरह से आक्रमण किया और तेजी से रन बटोरे, मुझे लगता है कि यह अद्भुत पारी थी।

.
.
.
.
.