Sports

दुबई : संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की पिचों से स्पिनरों को मदद मिलने की उम्मीद है लेकिन दिल्ली कैपिटल्स के अनुभवी लेग स्पिनर अमित मिश्रा का मानना है कि ऐसी भविष्यवाणी करना जल्दबाजी होगी क्योंकि अब तक हालात ‘तटस्थ' हैं। भारत के इस 36 साल के स्पिनर ने कहा कि यूएई की पिचें बल्लेबाजों की अधिक मददगार होंगी या गेंदबाजों की यह टूर्नामेंट शुरू होने के बाद ही पता चल पाएगा।

मिश्रा ने कहा, ‘अब तक हालात तटस्थ हैं। मैं यह नहीं कह सकता कि ये बल्लेबाजों के अधिक अनुकूल होंगे या गेंदबाजों के।' श्रीलंका के लसिथ मलिंगा के बाद आईपीएल के सबसे सफल गेंदबाज मिश्रा ने कहा, ‘जब हम खेलना शुरू करेंगे तब ही स्पष्ट तस्वीर सामने आएगी और हम कह पाएंगे कि बल्लेबाजों को अधिक मदद मिल रही है या गेंदबाजों को।' 

मिश्रा ने अब तक 147 आईपीएल मैचों में 157 विकेट चटकाए हैं और मलिंगा से 13 विकेट पीछे हैं जो निजी कारणों से इस बार टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले रहे हैं। भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण आईपीएल का आयोजन इस बार यूएई में किया जा रहा है। आगामी प्रतियोगिता के लिए दिल्ली कैपिटल्स की तैयारी पर मिश्रा ने कहा, ‘हम बेहद सकारात्मक हैं लेकिन टी20 क्रिकेट में जीत का वादा करना मुश्किल है क्योंकि सभी टीमें काफी प्रतिस्पर्धी हैं और उनके पास स्तरीय खिलाड़ी हैं।'

उन्होंने कहा, ‘हमारी टीम में भी काफी मैच विजेता खिलाड़ी हैं और हम प्रत्येक टीम के अनुसार अपनी तैयारी करेंगे। हम किसी टीम को कमतर नहीं आंक रहे और सभी को बराबर आंकने की जरूरत है।' आईपीएल की शुरुआत शनिवार को गत चैंपियन मुंबई इंडियन्स और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच मुकाबले के साथ होगी। दिल्ली कैपिटल्स की टीम अपने अभियान की शुरुआत रविवार को यहां किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ करेगी। 

.
.
.
.
.