Sports

नई दिल्ली : काउंटी टीम डरहम ने कहा है कि भारतीय लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल द्वारा उनके मुख्य कोच जेम्स फ्रैंकलिन पर लगाए गए शारीरिक उत्पीड़न के आरोपों को लेकर वह न्यूजीलैंड के इस पूर्व तेज गेंदबाज से ‘निजी तौर पर' बात करेगा। इस साल के शुरू में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के पॉडकास्ट में चहल ने 2011 की घटना को याद किया था जब मुंबई इंडियंस के उनके साथी फ्रैंकलिन और आस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर एंड्रयू साइमंड्स ने उस साल चैंपियन्स लीग फाइनल में जीत का जश्न मनाते हुए कथित तौर पर उन्हें बांध दिया था। 

रिपोर्ट के अनुसार डरहम ने बयान में कहा कि हम 2011 की एक घटना से जुड़ी हाल की रिपोर्टों से अवगत हैं जिसमें हमारे कोचिंग स्टाफ के एक सदस्य का नाम आया है। हमारे कर्मचारी से जुड़े किसी भी मसले पर क्लब तथ्यों का पता करने के लिए संबंधित पक्षों से निजी तौर पर बात करेगा। चहल ने यह भी आरोप लगाया था कि इन दोनों ने उनका मुंह टेप से बंद कर दिया था और उन्हें रात भर के लिए कमरे में अकेला छोड़ दिया था। फ्रैंकलिन 2011 से 2013 तक मुंबई इंडियंस का हिस्सा रहे थे। उन्हें 2019 के शुरू में डरहम का कोच नियुक्त किया गया था। 

चहल ने कहा था कि यह 2011 की घटना है जब मुंबई इंडियन्स ने चैंपियन्स लीग जीती थी। हम चेन्नई में थे। उसने (साइमंड्स) बहुत अधिक ‘फलों का जूस' पी लिया था। मुझे नहीं पता कि वे क्या सोच रहे थे लेकिन उसने और जेम्स फ्रैंकलिन ने मिलकर मेरे हाथ पांव बांध दिए थे और कहा कि अब तुम खोलकर दिखाओ। वे नशे में इतने अधिक धुत थे कि उन्होंने मेरे मुंह पर टेप चिपका दी और पार्टी के दौरान पूरी तरह से मेरे बारे में भूल गए।

चहल ने कहा कि वे वहां से चले गए। सुबह कोई कमरा साफ करने के लिये आया और उसने मुझे देखा। उसने कुछ अन्य को बुलाया और मुझे बंधनमुक्त किया। चहल के अनुसार दोनों खिलाड़ियों ने कभी इसके लिए उनसे माफी नहीं मांगी। फ्रैंकलिन और साइमंड्स के खिलाफ आरोप तब सामने आये जब इस लेग स्पिनर ने एक अन्य घटना का खुलासा करते हुए कहा कि 2013 में बेंगलुरू में आईपीएल मैच के बाद पार्टी में नशे में धुत एक खिलाड़ी ने उन्हें होटल के 15वें मंजिल से नीचे लटका दिया था।

.
.
.
.
.