Sports

मेड्रिड,स्पेन  ( निकलेश जैन ) 2013 में भारत के विश्वनाथन आनंद को मात देकर विश्व चैम्पियन बने मौजूदा विश्व शतरंज चैम्पियन नॉर्वे के मेगनस कार्लसन के ताज को अब तक कोई नहीं हिला सका है । 2014 में फिर से आनंद , 2016 में रूस के सेरगी कार्याकिन , 2018 में यूएसए के फबियानों करूआना और 2021 में रूस के इयान नेपोमिन्सी नें कार्लसन को फीडे कैंडीडेट जीतकर कार्लसन को चुनौती दी पर कोई भी सफल नहीं हुआ । अब एक बार फिर दुनिया की नजरे जर्मनी के बर्लिन में 17 जून से शुरू हो रहे फीडे कैंडीडेट पर है जहां जीतने वाला खिलाड़ी विश्व चैम्पियन कार्लसन से विश्व चैंपियनशिप खेलेगा ।

दुनिया भर से कुल 8 खिलाड़ी अलग अलग चयन के मापदंडो से इस प्रतियोगिता में चयनित हुए है । इसमें पूर्व चैलेंजर रूस के इयान  नेपोमिन्सी , फीडे विश्व कप से पोलैंड के यान डूड़ा ,अजरबैजान के तैमूर रद्जाबोव ,सर्वश्रेष्ठ रेटिंग से चीन के डिंग लीरेन ,फीडे ग्रांड स्विस से फ्रांस से अलीरेजा फिरौजा और यूएसए के फबियानों करूआना ,फीडे ग्रांप्री से हंगरी के रिचर्ड रापोर्ट और यूएसए के हिकारु नाकामुरा खिताब जीतने के लिए ज़ोर लगाते नजर आएंगे ।

8 खिलाड़ियों के बीच दोहरे राउंड रॉबिन आधार पर कुल 14 राउंड खेले जाएँगे और पहले स्थान के लिए टाई होने की स्थिति में रैपिड और ब्लिट्ज़ खेलकर टाईब्रेक का फैसला किया जाएगा । 17 जून से 5 जुलाई के बीच सभी मुक़ाबले खेले जाएँगे ।

.
.
.
.
.