Sports

नई दिल्ली : किंग्स इलेवन पंजाब के हाथ से मैच छीनने का एक श्रेय कोलकाता के स्पिनर सुनील नेरेन को भी जाता है। नेरेन ने डैथ ओवरों में निकोल्स पूरण और मनदीप सिंह की विकेट चटकाकर कोलकाता की मैच में वापसी करा दी। हालांकि नेरेन के मन में एक वक्त ऐसा भी विचार आया था कि वह मैच हार गए जब उन्हें आखिरी गेंद मैक्सवेल ने ऊंचा शॉट लगा दिया था। बकौल- नेरेन पंजाब को टाई के लिए छह रन की जरूरत थी। मैक्सवेल ने जिस तरह शॉट लगाया- मैं समझा यह सिक्स है। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। 

नेरेन बोले- मैच के दौरान मैं विस्तृत गेंदबाजी करना चाहता था या जितना संभव हो उतना करीब जाना चाहता था। वहीं, डैथ ओवर में गेंदबाजी पर उन्होंने कहा- यह आदर्श नहीं है, लेकिन यह एक ऐसा काम है जिसे किसी को करना है। मैं जितना अच्छा कर सकता हूं, करूंगा, यह कुछ ऐसा है जिसे मैं अभी भी देख रहा हूं, अगर यह अच्छे से आता है तो यह टीम के लिए अच्छा है और उम्मीद है - हमें कई और जीत मिलेगी।

वहीं, पिच पर बात करते हुए नेरेन बोले- पिच पहले की तुलना में धीमी थी, थोड़ी हरियाली भी थी। नसें चल रही थीं। ऐसा नहीं लगता कि मैं किसी दबाव में हूं। डेथ ओवरों में गेंदबाजी कठिन होती है लेकिन यह किसी न किसी को तो करना है। आज यह मैंने किया कल यह कोई और करेगा।

.
.
.
.
.