Sports

एंटवर्प : गोलकीपर पी आर श्रीजेश ने निर्धारित समय के भीतर कई गोल बचाने के बाद रोमांचक पेनल्टी शूटआऊट में एक पेनल्टी स्ट्रोक बचाया जिसकी मदद से भारतीय पुरूष हॉकी टीम ने ओलिम्पिक चैम्पियन बेल्जियम को एफआईएच प्रो लीग के पहले मैच में 5.4 से हरा दिया। भारतीय टीम 1.3 से पीछे थी जब 8 मिनट का ही खेल बचा था लेकिन स्कोर 3.3 से बराबर करके मैच को शूटआउट में खींच दिया। 

श्रीजेश ने अलेक्जेंडर हेंडरिक्स का शॉट बचाया जो तीसरी पेनल्टी लेने उतरे थे। शूटआऊट जब 4.4 से बराबरी पर था तब आकाशदीप ने गोल करके स्कोर 5.4 कर दिया। मैच के दौरान श्रीजेश ने कई गोल बचाये लेकिन आखिरी क्वार्टर में बचाये गए दो गोल काफी महत्वपूर्ण साबित हुए । पहले क्वार्टर में कोई गोल नहीं हो सका जिसमें श्रीजेश ने दो शॉट बचाए। 

दूसरे क्वार्टर की शुरूआत में भारत के लिए शमशेर सिंह ने 18वें मिनट में गोल दागा। बेल्जियम ने 3 मिनट बाद ही सेड्रिक चार्लियर के गोल पर बराबरी की। तीसरे क्वार्टर में साइमन गोनार्ड ने 36वें मिनट में बेल्जियम को बढत दिलाई। श्रीजेश ने इस बीच दो शॉट और बचाए लेकिन डि केरपेल ने पेनल्टी कॉर्नर पर गोल करके बढ़त 3.1 की कर दी।

भारत को मनप्रीत सिंह ने पेनल्टी कॉर्नर दिलाया जिसे हरमनप्रीत सिंह ने गोल में बदला। वहीं जरमनप्रीत ने तीसरा गोल दागा जब भारत ने पेनल्टी कॉर्नर पर वैरिएशन का इस्तेमाल करके बेल्जियम को चकमा दिया।

.
.
.
.
.