Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विशाखापट्टनम के वाई.एस. राजशेखर रेड्डी स्टेडियम में पहले टेस्ट के दूसरे दिन भारतीय ओपनिंग जोड़ी रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल ने पहले विकेट के लिए 317 रनों की साझेदारी कर कई सारे रिकाॅर्ड तोड़ दिए हैं जिसमें पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर का 15 साल पुराना रिकाॅर्ड भी शामिल है। टी ब्रैक के बाद पहले दिन का खेल 202 पर खत्म कर दिया गया था। दूसरे दिन मैच शुरु होने के बाद जैसे ही इस जोड़ी (रोहित और मयंक) ने 219 रनों की सांझेदारी के आंकड़े को छूआ तो सहवाग और गंभीर का साल 2004 में कानपुर के मैदान में 218 रन की ओपनिंग साझेदारी का रिकाॅर्ड टूट गया। 

PunjabKesari

भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका मैच में हाईएस्ट पार्टनरशिप  

219 एम अग्रवाल - आर शर्मा विजाग 2019/20 
218 वी सहवाग - गौतम गंभीर कानपुर 2004/05
213 वी सहवाग - डब्ल्यू जाफर चेन्नई 2007/08

PunjabKesari

दक्षिण अफ्रीका (किसी भी विकेट) के खिलाफ भारत की सबसे बड़ी साझेदारी : 

280 एम अग्रवाल - आर शर्मा विजाग 2019/20 (प्रथम) - आज
268 वी सहवाग - आर द्रविड़ चेन्नई 2007/08 (दूसरा)
259 वीवीएस लक्ष्मण - एमएस धोनी कोलकाता 2009/10 (7वां)
249 वी सहवाग - एस तेंदुलकर कोलकाता 2009/10 (तीसरा)

PunjabKesari

तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी 

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 317 बनाते ही ये जोड़ी तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी करने वाली जोड़ी बन गई है। इससे पहले साल 2006 में सहवाग और राहुल द्रविड़ ने पाकिस्तान के खिलाफ लाहौर में 410 रन की भागेदारी की थी। वहीं वर्ष 1956 में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलते हुए पंकज रॉय और वीनू मांकड़ ने 413 रन की साझेदारी निभाई थी जोकि अब तक की सबसे बड़ी साझेदारी है। 

413 वी मांकड़ - पी रॉय वी एनजेड चेन्नई (सीएस) 1955/56
410 वी सहवाग - आर द्रविड़ बनाम पाक लाहौर 2005/06
317 एम अग्रवाल - आर शर्मा बनाम एसए विजाग 2019/20
289 एम विजय - एस धवन बनाम औस मोहाली 2012/13 

रोहित और मयंक द्वारा बनाया गया तिहरा शतक 

भारतीय टेस्ट इतिहास में ऐसा महज तीसरी बार हुआ है। इससे पहले दो बार ही भारत की ओपनिंग जोड़ी ने 300 से ज्यादा रनों की साझेदारी निभाई थी। साल 1956 में पंकज रॉय और वीनू मांकड़ ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 413 रन और साल 2006 में वीरेंद्र सहवाग और राहुल द्रविड़ ने पाकिस्तान के खिलाफ लाहौर में 410 रन की भागेदारी की थी। 

.
.
.
.
.