Sports

बेंगलुरु : छह जून से शुरु होने वाले रणजी ट्रॉफी क्वार्टरफाइनल में तेज गेंदबाज प्रसिद्ध कृष्णा कर्नाटक की टीम का हिस्सा नहीं होंगे। प्रसिद्ध का चयन इंग्लैंड दौरे पर खेले जाने वाले एकमात्र टेस्ट के लिए हुआ है जो कि पिछले वर्ष कोरोना के कारण नहीं खेला गया था। लिहाजा जून के दूसरे हफ्ते में प्रसिद्ध टेस्ट टीम के साथ इंग्लैंड के लिए रवाना होने वाले हैं। हालांकि कर्नाटक की टीम ने अपने दल की घोषणा कर दी है, जिसमें मयंक अग्रवाल की वापसी हुई है। 

मयंक अग्रवाल को 2018 में टेस्ट में भारत के लिए डेब्यू करने के बाद पहली बार राष्ट्रीय टीम से बाहर किया गया है। कर्नाटक की टीम में देवदत्त पडिकल और करुण नायर के अलावा मनीष पांडे भी होंगे जो कि टीम की अगुवाई करेंगे। चूंकि केएल राहुल नौ जून से साउथ अफ्रीका के खिलाफ शुरु होने वाली टी20 सीरीज में भारतीय टीम का नेतृत्व करने वाले हैं इसलिए वह भी कर्नाटक के लिए अनुपलब्ध रहेंगे। 

कर्नाटक का तेज गेंदबाजी आक्रमण काफी अनुभवहीन नजर आ रहा है। दल में सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज रोनित मोरे को 30 फर्स्ट क्लास मुकाबलों का अनुभव है। जबकि वी कौशिक, वी विजयकुमार, एम वेंकटेश और वी कवेरप्पा को चार-चार फर्स्ट क्लास मुकाबलों का ही अनुभव है। हालांकि इसके बनिस्बत कर्नाटका की स्पिन गेंदबाजी मज़बूत प्रतीत हो रही है। दल में लेग स्पिनर श्रेयस गोपाल और कृष्णप्पा गौतम व जगदीश सुचित जैसे हरफनमौला खिलाड़ी मौजूद हैं। 

कर्नाटक को छह जून से अल्लूर में उत्तर प्रदेश के खिलाफ दो-दो हाथ करने हैं। कोरोना के कारण इस साल रणजी ट्रॉफी को कुल दो चरणों में आयोजित किया गया। लीग चरण में प्रत्येक टीम को कुल तीन मुकाबले मिले। तीन मुकाबलों में दो जीत के साथ कार्नाटका की टीम अपने ग्रुप में पहले पायदान पर थी। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी रेलवे को पछाड़ते हुए नॉकआउट में प्रवेश किया है। 

.
.
.
.
.