Sports

नई दिल्ली : टेनिस प्लेयर राफेल नडाल ने दावा किया है कि वह अपने करियर से खुश हैं और वह टेनिस जगत के सबसे महान प्लेयरों में से एक हैं। नडाल ने एक कार्यक्रम के दौरान अपने करियर पर बात करते हुए कहा- ईमानदारी से, यह मेरे लिए ज्यादा मायने नहीं रखता; मैं अपने करियर से खुश हूं। फिलहाल, यह स्पष्ट है कि मैं दोनों में से एक हूं। हम देखेंगे कि अगले कुछ वर्षों में क्या होता है- जोकोविच क्या करते हैं, फेडरर क्या करते हैं जब वह लौटते हैं और मैं क्या करता रहता हूं। अगर सब ठीक हो जाता है, तो हमारे पास अपने करियर खत्म होने पर इसका विश्लेषण करने का समय होगा।

बता दें कि सिनसिनाटी और यूएस ओपन को छोड़ते के बाद नडाल ने मल्लोर्का में अपनी अकादमी में ट्रेनिंग की थी। इसके बाद वह रौलेंड गैरोस टूर्नामेंट में जुटे। उन्होंने सभी 7 विरोधियों को सीधे सेटों में हराया। 34 साल की उम्र में वह रोलांड गैरोस चैंपियन बन गए। नडाल की यह 100वीं रोलैंड गैरोस जीत थी। उनका खिताबी मुकाबला जोकोविच के साथ हुआ जिसमें उन्होंने जीत हासिल की।

.
.
.
.
.