Sports

नई दिल्ली : वनडे सीरीज के बाद अब टी-20 सीरीज के लिए पाकिस्तान और जिमबाब्वे की टीमें आमने-सामने हुईं। रावलपिंडी के मैदान पर खेले गए पहले मैच में जिमबाब्वे ने पहले खेलते हुए पाकिस्तान के सामने 157 रन का लक्ष्य रखा। जिसे पाकिस्तान की टीम ने कप्तान बाबर आजम के 82 रनों की पारी की बदौलत 4 विकेट खोकर ही हासिल कर लिया। बाबर के अलावा मोहम्मद हफीज ने भी 36 रन बनाए। 

PAK vs ZIM 1st T 20, PAK vs ZIM, Pakistan Cricket team, बाबर आजम, Sports news, PCB, Babar Azam,

इससे पहले जिमबाब्वे ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी थी। उनकी शुरुआत खराब रही। कप्तान चिभाभा पहली ही ओवर में मोहम्मद हसनेन का शिकार हो गए। उन्होंने खाता भी नहीं खोला था। ओपनर ब्रैंडन टेलर ने सीन विलियमस के साथ पारी को आगे बढ़ाया। ब्रैंडन ने जहां 13 गेंदों में तीन चौकों की मदद से 20 रन बनाए तो वहीं, सीन ने 24 गेंदों में चार चौकों की मदद से 25 रन बनाए।

जिमबाब्वे की पारी को बड़ा सहारा माडावे की ओर से मिला। उन्होंने 48 गेंदों में नौ चौके और एक छक्के की मदद से 70 रन बनाए। इस दौरान रजा ने 7 तो रियान ने 8 रन बनाए। लेकिन उन्होंने चिगुम्बुरा के साथ मिलकर जिमबाब्वे को 156 रनों तक पहुंचा दिया। चिगुम्बुरा ने 13 गेंदों में दो चौके और एक छक्के की मदद से 21 रन बनाए।

PAK vs ZIM 1st T 20, PAK vs ZIM, Pakistan Cricket team, बाबर आजम, Sports news, PCB, Babar Azam,
वहीं, गेंदबाजी की बात की जाए तो पाकिस्तान की ओर से हैरिस रॉफ ने 25 रन देकर दो तो रियाज ने 37 रन देकर 2 विकेट लिए। मोहम्मद हसनेन के हाथ एक तो उसमान कादिर के हाथ भी एक विकेट लगा। फहीम अशरफ ने 35 रन दिए लेकिन विकेट निकालने में सफल नहीं हो पाए।

जवाब में खेलने उतरी पाकिस्तानी टीम ने जोरदार शुरुआत की। ओपनर फखर जमा के साथ कप्तान बाबर आजम ने मोर्चा संभाला। पाकिस्तान को पहला झटका चौथे ओवर में लगा जब फखर 12 गेंदों में दो चौके और एक छक्के की मदद से 19 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। लेकिन इसके बाद बाबर आजम पाकिस्तान की पारी को संवारते हुए दिखे।

हालांकि इस दौरान पाक टीम ने हैदर अली का सस्ते में ही विकेट गंवा लिया। लेकिन बाबर ने हफीज के साथ मिलकर मजबूत पार्टनरशिप की। हफीज ने 32 गेंदों में तीन चौके और एक छक्के की मदद से 36 रन बनाए। उन्हें मुजारबानी ने बोल्ड किया। लेकिन इस दौरान बाबर अपनी लय में रहे। उन्होंने चटारा की गेंद पर माडावे को कैच देने से पहले 55 गेंदों में नौ चौके और एक छक्के की मदद से 82 रन बनाए। अंत में खुशदिल और मोहम्मद  रिजवान ने पाकिस्तान टीम को छह विकेट से मैच जितवा दिया।

.
.
.
.
.