Sports

बेंगलुरू : भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने बुधवार को कहा कि आठ बार के ओलंपिक चैंपियन भारत का ध्यान अगले साल होने वाले तोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने पर है जबकि खेलों के महाकुंभ की शुरुआत में अब सिर्फ एक साल का समय बचा है। तोक्या खेलों की उलटी गिनती बुधवार को शुरू हुई जिसकी शुरुआत में ठीक 12 महीने का समय बचा है। 2020 ओलंपिक का आयोजन अगले साल 24 जुलाई से नौ अगस्त तक किया जाएगा। पुरुष और महिला दोनों वर्ग के शुरुआती दौर के मुकाबले 25 जुलाई से शुरू होंगे। 

मनप्रीत ने कहा, ‘हमें भी पता है कि कितना समय बचा है और हम लगातार स्वयं को याद दिलाते रहते हैं कि क्वालीफाई करने के लिए कितने दिन बचे हैं और तोक्यो ओलंपिक 2020 से पहले कितने दिन बचे हैं। हम क्वालीफाई करने के लिए उत्सुक हैं।' उन्होंने कहा, ‘खिलाड़ी ही नहीं बल्कि कोचिंग स्टाफ भी हमें याद दिलाता रहता है कि 2020 तोक्यो ओलंपिक के लिए कितने दिन बचे हैं और इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता से पहले हमें क्या उपलब्धियां हासिल करने की जरूरत है।'

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘अपने कमजोर पक्षों पर काम करने के लिए हमने छोटे लक्ष्य तय किए है, इसके अलावा ओलंपिक परीक्षण प्रतियोगिता, बेल्जियम दौरे जैसी आगामी प्रतियोगिताओं में हम किन टीमों के खिलाफ खेलना चाहते हैं। इसका नंवबर में होने वाली क्वालीफाइंग प्रतियोगिता पर क्या असर पड़ेगा। हम बेहतर प्रदर्शन करें यह सुनिश्चित करने के लिए हमने प्रत्येक बिंदू पर गौर किया है।' मनप्रीत ने साथ ही कहा कि ओलंपिक से पहले चोट मुक्त रहना भी खिलाड़ियों के लिए महत्वपूर्ण होगा। इस बीच भारतीय महिला हाॅकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने कहा कि वे तोक्यो में जगह पक्की करने के लिए प्रतिबद्ध हैं जिससे कि दुनिया को बता सकें कि 2016 रियो ओलंपिक के लिए उनका क्वालीफाई करना तुक्का नहीं था। 

रानी ने कहा, ‘हम सभी ने निजी कुर्बानियां दी हैं जिससे कि सुनिश्चित हो सके कि टीम को सभी चीजों से ऊपर रखा जाए और हम एक लक्ष्य के लिए काम कर रहे हैं जो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना है।' रानी ने देश की ट्रैक एवं फील्ड खिलाड़ियों हिमा दास और दुती चंद को हाल में मिली सफलता की सराहना करते हुए कहा कि उनकी उपलब्धियां गवाह हैं कि भारतीय महिलाएं विश्व स्तर पर आगे बढ़ रही हैं।  

.
.
.
.
.