Sports

पानीपत : नीरज चोपड़ा के टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने के बाद उनका गृह राज्य हरियाणा जश्न में डूब गया। लोगों ने सड़कों पर निकलकर और आतिशबाजी करके इस उपलब्धि का जश्न मनाया। 23 वर्षीय चोपड़ा ओलंपिक में व्यक्तिगत स्वर्ण पदक जीतने वाले केवल दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं। वह ट्रैक एवं फील्ड में पदक जीतने वाले पहले भारतीय हैं। चोपड़ा के परिजनों के फोन लगातार घनघना रहे हैं और उनके पास कई हस्तियों के फोन और संदेश आ रहे थे। चोपड़ा के पिता सतीश ने कहा कि उनके बेटे ने पूरे देश को गौरवान्वित किया है।

उन्होंने कहा कि उसके साथ सभी देशवासियों का आशीर्वाद था। पहलवान बजरंग पूनिया के कांस्य पदक जीतने के कुछ देर बाद चोपड़ा के स्वर्ण पदक जीतने की खबर आई। सोनीपत, रोहतक, झज्जर, भिवानी और पानीपत में लोगों ने इन दोनों की उपलब्धियों का जश्न मनाया। चोपड़ा के परिवार ने घर में बड़ी स्क्रीन लगा रखी थी तथा उनके सभी पड़ोसी, बच्चे उस पर सीधा प्रसारण देख रहे थे। उनके घर में कई मीडियाकर्मी भी पहुंचे थे और चोपड़ा परिवार उनकी आवभगत करने में व्यस्त था। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पहले बजरंग पूनिया के पिता से बात की और बाद में चोपड़ा के माता पिता को भी बधाई दी। 

.
.
.
.
.