Sports

भुवनेश्वर : भारतीय महिला हॉकी टीम की मुख्य कोच यांके शॉपमैन ने सोमवार को कहा कि टीम को शूट-आउट तक जाने के बजाय मैच निर्धारित समय में ही खत्म करने चाहिए लेकिन वह मौजूदा एफआईएच प्रो लीग मुकाबलों में अपनी खिलाड़ियों द्वारा बनाए गए गोल करने के मौकों से काफी खुश थीं। प्रो लीग में हाल में भारत के जर्मनी के खिलाफ दोनों मैच शूट-आउट तक पहुंचे जिसमें घरेलू टीम ने पहला मैच गंवा दिया जबकि वापसी करते हुए रविवार को यहां दूसरे मैच में जीत हासिल की। भारत को पहले मैच में शूट आउट में 1-2 से हार मिली थी जबकि दूसरे में उसने 3-0 से जीत हासिल की।

शॉपमैन ने भारत की दूसरे मैच में जीत के बाद कहा कि शनिवार के मैच में हमने अच्छी शुरूआत नहीं की लेकिन अगले मैच में हमारी शुरूआत अच्छी थी। मुझे लगता है कि हमने काफी मौके बनाे। सिर्फ एक चीज कहनी है कि हमें निर्धारित समय में ही जीतना चाहिए, शूट-आउट में नहीं। नौ टीम की लीग की तालिका में भारतीय टीम छह मैचों में 12 अंक से दूसरे स्थान पर काबिज है और शॉपमैन चाहती हैं कि उनकी खिलाड़ी एफआईएच प्रो लीग में आगे के प्रत्येक मैच में सुधार करती रहें। 

उन्होंने कहा कि हमारा ध्यान सुधार करने और प्रत्येक मैच में बेहतर करने पर है जो मुझे लगता है कि हम कर रहे हैं। मैं प्रदर्शन से काफी खुश हूं लेकिन सीखने के लिए काफी कुछ है। भारतीय महिला टीम की अगली प्रतिद्वंद्वी इंग्लैंड है जिसके खिलाफ मैच दो और तीन अप्रैल को यहां कलिंगा स्टेडियम में खेले जाएंगे। 

.
.
.
.
.