Sports

नई दिल्ली : भारतीय महिला एकदिवसीय टीम की कप्तान मिताली राज और कोच रमेश पवार ने शनिवार को कहा कि टीम का ध्यान अगले साल होने वाले विश्व कप पर है और ऑस्ट्रेलिया का आगामी दौरा इस बड़े टूर्नामेंट के लिए आदर्श तैयारी का काम करेगा। भारतीय टीम तीन वनडे, एक दिन-रात्रि टेस्ट और तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच की श्रृंखला के लिए बुधवार को ऑस्ट्रेलिया के लिए रवाना हो रही है। यह भारतीय महिला टीम का पहला दिन-रात्रि टेस्ट होगा और इस बारे में पूछे जाने पर कोच पवार ने कहा कि हमें यह समझने की जरूरत है कि हम पहले तीन एकदिवसीय मैच खेलेंगे और हम अभी विश्व कप की तैयारी पर ध्यान दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि दौरे पर खेले जाने वाले इकलौते टेस्ट मैच के बारे में बात करें तो हमें अपने एकदिवसीय प्रारूप के आत्मविश्वास को टेस्ट मैच में ले जाना होगा। हमें अलग से तैयारी करने की जरूरत नहीं है क्योंकि हम सभी प्रारूपों में अपने खिलाड़ियों का समर्थन करते हैं। हम यह समझाने की कोशिश करते हैं कि हमें हर प्रारूप को कैसे अपनाना चाहिए। ऑस्ट्रेलिया का दौरा एकदिवसीय श्रृंखला के साथ शुरू होगा। इसका पहला मैच 19 सितंबर को नॉर्थ सिडनी ओवल में खेला जाएगा। इसके बाद 22 और 24 सितंबर को क्रमश: जंक्शन ओवल में दूसरा और तीसरा मैच होगा। 

महिलाओं के 50 ओवर प्रारूप का विश्व कप अगले साल मार्च-अप्रैल में न्यूजीलैंड में होना प्रस्तावित है। दौरे पर रवाना होने से पहले आयोजित इस संवाददाता सम्मेलन में कप्तान मिताली राज ने कहा कि हम उन क्षेत्रों को जानते हैं जिनमें हमें सुधार करने की आवश्यकता है और हमने बेंगलुरु में अभ्यास शिविर के दौरान ऐसी सभी पहलुओं पर काम किया है। ऑस्ट्रेलिया में जो भी परिणाम हों, हमारे पास विश्व कप के लिए अभी भी कुछ महीने हैं।

ऑस्ट्रेलिया दौरा हमारे लिए अच्छा है क्योंकि हम सर्वश्रेष्ठ टीम के खिलाफ खेल रहे हैं, हमें विश्व कप से पहले टीम संयोजन के बारे में भी अंदाजा हो जाएगा। इसलिए विश्व कप से पहले ऑस्ट्रेलिया एक अच्छा दौरा साबित होगा। महिला राष्ट्रीय टीम के कोच के रूप में अपने दूसरा कार्यकाल शुरू कर चुके कोच ने कहा कि टीम प्रबंधन अनुभवी झूलन गोस्वामी पर बोझ कम करने के लिए तेज गेंदबाजी विभाग को मजबूत करने की उम्मीद कर रहा है।

उन्होंने कहा कि हम तेज गेंदबाजी में निरंतरता की तलाश कर रहे हैं ताकि झूलन खुद को अभिव्यक्त कर सकें, नहीं तो वह रक्षात्मक खेल के लिए मजबूर हो जाएंगी और हम ऐसी स्थिति नहीं चाहते हैं। हमें उनके लिए एक साथी खोजने की जरूरत है ताकि वह साझेदारी में गेंदबाजी कर सके। हम मेघना सिंह पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं और हमें पूजा वस्त्राकर से भी उम्मीदें है। तेज गेंदबाज मेघना और रेणुका सिंह ठाकुर को भारत को पहली बार भारतीय टीम में शामिल किया गया है, जबकि बाएं हाथ की स्पिनर राजेश्वरी गायकवाड़ ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी प्रतियोगिताओं के लिए टीम में वापसी कर रही है।

मिताली ने माना कि गुलाबी गेंद (दिन रात्रि) का टेस्ट खिलाड़ियों के लिए चुनौती भरा होने वाला है। उन्होंने कहा कि यह बड़ा मैच होने जा रहा है क्योंकि यहां (संवाददाता सम्मेलन में) भी ज्यादातर सवाल वनडे क्रिकेट के बजाय गुलाबी गेंद से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि चुनौती दूधिया रोशनी में खेलने की होगी। और गुलाबी गेंद से खेलना भी क्योंकि हम सभी लाल गेंद से खेलने के अभ्यस्त हैं। हमें पुरुष खिलाड़ियों से इस बारे में प्रतिक्रिया मिली है। टेस्ट मैच का आयोजन पर्थ में 30 सितंबर से होगा। इसके बाद नॉर्थ सिडनी ओवल में सात, नौ और 11 अक्टूबर को तीन टी20 मैचों की अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला का आयोजन होगा। 

.
.
.
.
.