Sports

नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर माइकल क्लार्क की बेटी केसली छोटी उम्र में ही अस्थमा का शिकार हो गई थी। क्लार्क को इसके बारे में तब पता चला था जब वह घर में खेलती हुई बेहोश हो गई थी। क्लार्क ने बेटी की बीमार और उसके इलाज के दौरान हुई परेशानियों के बाबत अपने अनुभव एक शो के दौरान बताए। 

Michael Clarke daughter is Asthma patient
भावुक हुए क्लार्क ने कहा- मैं हमेशा व्यापार करने में रुचि रखता था। अपने करियर के अंतिम 4-5 वर्षों में, जब मैं ऑस्ट्रेलिया का कप्तान था, मैंने विभिन्न प्रकार के व्यवसाय पर ध्यान देना शुरू कर दिया था। एक दिन, मेरी तीन साल की बेटी को अस्थमा का दौरा पड़ा और उसे सांस लेने में समस्या होने लगी। उस समय, मुझे नहीं पता था कि वह अस्थमा से पीड़ित थी और न ही मुझे और न ही मेरी पत्नी को अस्थमा था।

Michael Clarke daughter is Asthma patient
क्लार्क ने कहा- मैं अपनी बेटी की हालत देखकर चिंतित हो गया। मैं फिर उसे अपनी कार में ले गया और अस्पताल गया और वहां हमें पता चला कि उसे अस्थमा है। मुझे इस बीमारी के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी। लेकिन, मैं अपनी बेटी की मदद करना चाहता था। 

Michael Clarke daughter is Asthma patient
क्लार्क ने कहा- एक दिन, मैं वाणी से मिला जो रेस्पिरि नाम की एक स्टार्ट-अप फर्म का हिस्सा था। वह व्हीज़ो नामक एक उपकरण के साथ आई, जो अस्थमा के इलाज में प्रभावी है। मुझे यह प्रभावी लगा इसीलिए मैंने इसके स्टार्ट-अप में निवेश किया। चिकित्सा क्षेत्र कुछ ऐसा नहीं था जिसके बारे में मैंने निवेश करने के बारे में सोचा था, लेकिन अपनी बेटी की स्थिति के कारण, मैं इस क्षेत्र की ओर आकर्षित हुआ था और मैं अधिक से अधिक लोगों की मदद करना चाहता था।

.
.
.
.
.