Sports

पुणे : भारत के खिलाफ पहले दो टेस्ट मैचों में केशव महाराज कोई प्रभाव छोडऩे में नाकाम रहे लेकिन टीम के अंतरिम कोच इनोक एनक्वे को अब भी भरोसा है कि दक्षिण अफ्रीका का बायें हाथ का यह स्पिनर भविष्य में अच्छी गेंदबाजी करने की क्षमता रखता है। महाराज ने पहले टेस्ट में 318 (189 पर तीन विकेट और 129 पर दो विकेट) रन लुटाए। दूसरे टेस्ट की पहली पारी में उन्होंने 190 रन दिए जिससे भारतीय टीम ने पांच विकेट पर 601 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया।

एनक्वे ने कहा- वह अच्छा स्पिनर है और उसने पहले भी साबित किया है। जब तक आप अपने मकसद से नहीं भटकते तब तक ये (मौजूदा प्रदर्शन) कुछ ऐसा है जिसे स्वीकार कर आगे बढऩा होगा। कोच ने हालांकि कहा कि महाराज को लय पाने के लिए कुछ करना होगा। उन्होंने कहा- ऐसा समय-समय पर होता है। लय बनाए रखना आदर्श स्थिति होती है लेकिन हमें अब भी लगता है कि वह किसी भी परिस्थिति में टीम को आगे ले जा सकते हैं। वह ऐसे खिलाड़ी है जो मेहनत करने से कभी पीछे नहीं हटते। उम्मीद है उन्हें किस्मत का साथ मिलेगा। 

रविचंद्रन अश्विन और रविन्द्र जडेजा की भारतीय स्पिनरों की जोड़ी का सामना टीम के बल्लेबाज कैसे करेंगे, यह पूछे जाने पर कोच ने कहा कि हमारी प्रतिबद्धता में कोई कमी नहीं है। हमें सकारात्मक होकर खेलना होगा और रन बनाने होंगे। हस समय हम पिछड़ रहे हैं लेकिन हम बिना संघर्ष किये हार नहीं मानने वाले हैं।

.
.
.
.
.