Sports

बर्मिंघम : तृषा जॉली और गायत्री गोपीचंद की भारतीय जोड़ी का आल इंग्लैंड बैडमिंटन चैम्पियनशिप में शानदार सफर यहां महिला युगल स्पर्धा में शु जियान झांग और यु झेंग की जोड़ी से सीधे गेम में मिली हार के बाद समाप्त हो गया। भारतीय जोड़ी ने कड़ी चुनौती पेश की लेकिन उन्हें अंतिम चार मुकाबले में चीनी जोड़ी से शनिवार को यहां 17-21 16-21 से हार का सामना करना पड़ा।

भारतीय जोड़ी की हार से पहले युवा लक्ष्य सेन इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचने वाले चौथे पुरूष भारतीय एकल खिलाड़ी बने थे। सेन ने सेमीफाइनल में गत चैम्पियन मलेशिया के ली जि जिया को 21 - 13, 12 - 21, 21 - 19 से हराया था। अब वह दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी विक्टर एक्सेलसेन के सामने होंगे जिसमें उनका जीत का रिकॉर्ड 1-4 है। दुनिया के 11वें नंबर के भारतीय को डेनमार्क के खिलाड़ी के खिलाफ एकमात्र जीत जर्मन ओपन में पिछली भिड़ंत में मिली थी। 

.
.
.
.
.