Sports

बम्बोलिम : खराब शुरूआत के बाद पिछले दो मैचों में अजेय रही ओडि़शा एफसी की टीम इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) फुटबाल टूर्नामेंट के सातवें सत्र के दूसरे चरण के अपने शुरूआती मुकाबले में दो बार की चैम्पियन चेन्नइयिन एफसी के खिलाफ बुधवार को खेले जाने वाले मैच में इस क्रम को जारी रखना चाहेगी।

दोनों ही टीमों ने अब तक अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं किया है और यही कारण है कि वे अंक तालिका में नीचे की चार टीमें में शामिल हैं। ओडिशा जहां 11 टीमों की तालिका में सबसे नीचे है वहीं चेन्नइयिन 11 अंकों के साथ आठवें स्थान पर है। हाल ही में दोनों की आपस में भिड़ंत हुई थी और वह मैच गोलरहित बराबरी पर समाप्त हुआ था।

ओडिशा के कोच स्टुअर्ट बॉक्सटर ने कहा कि चार दिनों के अंदर किसी टीम से दूसरी बार भिडऩा का फायदा और नुकसान दोनों है। उन्होंने कहा- यह उसी तरह है जैसे आप किसी आधे भरे ग्लास को आधा भरा या आधा खाली कहें। जो स्थिति है वह दोनों टीमों के लिए है और हम इसे सकारात्मक रूप से लेते हुए मुकाबले में उतरेंगे।

बॉक्सटर ने हालांकि यह बताने से इंकार किया कि वह चेन्नइयिन के खिलाफ होने वाले इस मुकाबले में बदली हुई रणनीति के साथ उतरेंगे या नहीं। इस सत्र में चेन्नइयिन एफसी की सबसे बड़ी मुश्किल यह है कि वे मौकों को गोल में नहीं बदल पा रहे है। बीते रविवार को रहीम अली और जाकुब सिल्वेस्टर जैसे खिलाड़ी मौके बनाने के बावजूद गोल नहीं कर सकें। टीम ने इस सत्र में सभी टीमों की तुलना में सबसे कम गोल किए हैं। कोच काबा लाजलो के लिए यह सबसे बड़ी समस्या है और उन्होंने इसे स्वीकार भी किया है।

लाजलो ने कहा- मेरे लिहाज से अभी हमारी सबसे बड़ी समस्या गोल न कर पाना है। हम मौके तो बना रहे हैं लेकिन गोल नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में तो हमें मैच जीतने में मुश्किल होगी ही।

.
.
.
.
.