Sports

सिडनी : ऑस्ट्रेलिया के स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने मंगलवार को कहा कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद उन्होंने लय हासिल कर ली है और भारतीय गेंदबाजों के खिलाफ ढेरों रन बटोरने के लिए तैयार हैं। भारत और आस्ट्रेलिया के बीच बहुप्रतीक्षित श्रृंखला की शुरुआत 27 नवंबर से एक दिवसीय श्रृंखला के साथ होगी।

आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स की कप्तानी करने वाले स्मिथ 14 मैचों मे सिर्फ 311 रन बना पाए और अधिकांश मैचों में वह जूझते नजर आए। स्मिथ ने हालांकि कहा है कि उन्होंने अब ‘लय' हासिल कर ली है और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए तैयार हैं। श्रृंखला के आधिकारिक प्रसारणकर्ता ‘सोनी नेटवर्क' की आनलाइन प्रेस कांफ्रेंस में स्मिथ ने कहा, ‘‘मैं आईपीएल के दौरान अपनी बल्लेबाजी को लेकर काफी निराश था। मेरे स्तर के हिसाब से मेरे प्रदर्शन में निरंतरता नहीं थी। मैंने कुछ अच्छी पारियां खेली लेकिन प्रदर्शन में निरंतरता नहीं थी।'

उन्होंने कहा, ‘जो लोग मुझे अच्छी तरह जानते हैं पिछले कुछ दिनों में वह कह रहे हैं कि मैंने लय हासिल कर ली है और मैं इसे लेकर रोमांचित हूं। इसलिए मैंने नेट पर और अधिक अभ्यास की योजना बनाई है और कुछ दिनों में इसका असर दिखेगा।' भारत के खिलाफ आस्ट्रेलिया को तीन एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय, इतने ही टी20 अंतरराष्ट्रीय और चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला खेलनी है। एक दिवसीय श्रृंखला की शुरुआत 27 नवंबर से होगी जबकि टेस्ट श्रृंखला 17 दिसंबर से खेली जाएगी। यह पूछने पर कि उन्हें कब लगा कि उन्होंने लय वापस हासिल कर ली है।

स्मिथ ने कहा, ‘यह इस अहसास से जुड़ा है कि मेरे हाथ किस तरह काम कर रहे हैं। इसके बारे में बताना मुश्किल है लेकिन संभवत: दो दिन पहले तक मैं ऐसा महसूस नहीं कर रहा था।'' उन्होंने कहा, ‘इसके बाद दो दिन पहले कुछ चीज काम कर गई। गेंद बल्ले से जहां टकरा रही थी वह जगह बदल गई। उस दिन ट्रेनिंग करते हुए मेरे चेहरे पर काफी मुस्कान थी। लय हासिल करने में मुझे सामान्य से अधिक समय लगा।' स्मिथ ने कहा, ‘‘कोविड (लॉकडाउन) के दौरान मैंने चार महीने तक बल्लेबाजी नहीं की इसलिए अगर लय हासिल करने में अधिक समय लगा हो तो मुझे पता नहीं।' स्मिथ ने स्वीकार किया कि आईपीएल के दौरान उन्होंने अपने प्राकृतिक खेल को बदलने का प्रयास किया जिससे उनकी बल्लेबाजी प्रभावित हुई और उन्होंने राष्ट्रीय टीम के साथ ट्रेनिंग के दौरान इसे महसूस किया।

यह पूछने पर कि वह भारत (छह टेस्ट शतक तथा कुछ और एक दिवसीय शतक) के खिलाफ इतने सफल कैसे रहे तो उनका कहना है कि विरोधी टीम का स्तर उन्हें सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करता है। उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं पता। बड़ी श्रृंखला में, मैं जिम्मेदारी निभाने का प्रयास करता हूं और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करता हूं। एशेज और भारत के खिलाफ श्रृंखला दो सबसे बड़ी श्रृंखला हैं और आस्ट्रेलियाई क्रिकेटर के रूप में मुझे अंदर से कुछ चीज प्रेरित करती है।' स्मिथ ने कहा, ‘मैंने हमेशा भारत के खिलाफ पहले टेस्ट में अच्छा प्रदर्शन किया है और इससे मुझे बाकी श्रृंखला के लिए लय हासिल होती है।' 

.
.
.
.
.