Sports

अबुधाबी : गत चैम्पियन मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने स्वीकार किया कि श्रीलंकाई महान तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा की कमी काफी खलेगी जिन्होंने इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आई.पी.एल.) से हटने का फैसला किया है। आईपीएल के सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले 37 साल के मलिंगा ने व्यक्तिगत कारणों का हवाला देकर टूर्नामेंट से हटने का फैसला किया। उन्होंने 170 विकेट हासिल किए हैं और 4 बार की चैम्पियन मुंबई इंडियंस के लिये यह करारा झटका है। गत चैम्पियन मुंबई इंडियंस की टीम 19 सितंबर को यहां सत्र के शुरूआती मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स से भिड़ेगी।

मुंबई के लिए मैच विजेता रहे हैं मलिंगा
Rohit Sharma, Lasith Malinga, Cricket news in hindi, Sports news, IPL News Today, IPL Samachar, Indian Premier League 2020

रोहित ने सत्र पूर्व ऑनलाइन प्रेस कांफ्रेंस में कहा- मुझे नहीं लगता कि उनके स्थान को भरना आसान होगा। वह मुंबई के लिए मैच विजेता रहे हैं। मैं यह कई बार कह चुका हूं, जब भी हम खुद को मुश्किल में पाते तो मलिंगा हमेशा हमें इससे बाहर निकालते। रोहित ने कहा कि पिछले प्रदर्शन को देखते हुए टीम को उनकी काफी कमी खलेगी और उनकी तुलना किसी से नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा- उनके अनुभव की कमी खलेगी, उन्होंने मुंबई इंडियंस के लिये जो किया है, वह अविश्वसनीय है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि वह इस साल टीम का हिस्सा नहीं हैं। 

पैटिनसन, कुलकर्णी, मोहसिन को देंगे मौका
Rohit Sharma, Lasith Malinga, Cricket news in hindi, Sports news, IPL News Today, IPL Samachar, Indian Premier League 2020

रोहित ने कहा- हमारे पास जेम्स पैटिनसन, धवल कुलकर्णी, मोहसिन खान जैसे खिलाड़ी मौजूद हैं और हम मलिंगा की जगह इन्हें खिलाएंगे। लेकिन जाहिर सी बात है कि मलिंगा ने मुंबई के लिए जो कुछ किया है, उसकी तुलना नहीं की जा सकती। अपनी भूमिका के बारे में बात करते हुए रोहित ने कहा कि वह पारी का आगाज करना जारी रखेंगे। उन्होंने कहा- मैंने पिछले साल पूरे टूर्नामेंट में पारी शुरू की और मैं ऐसा करना जारी रखूंगा। साथ ही मैंने सभी विकल्प खुले रखे हैं, जो भी टीम चाहती है, वैसा करने को तैयार हूं। 

मैं दरवाजे बंद नहीं करूंगा
Rohit Sharma, Lasith Malinga, Cricket news in hindi, Sports news, IPL News Today, IPL Samachar, Indian Premier League 2020

रोहित ने कहा- जब मैं भारत के लिए खेलता हूं, तो मेरी तरह से प्रबंधन को हमेशा यही संदेश होता है कि कोई भी दरवाजे बंद नहीं करो, सारे विकल्प खुले रखो और मैं यहां भी ऐसा ही करूंगा। भारत के सफेद गेंद की टीम के उप कप्तान को यह भी लगता है कि टीम के नतीजों में परिस्थितियों को सही तरह से पढऩा काफी अहम भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा- हमारे लिए चुनौती यहां की परिस्थितियों के अनुरूप ढलने की होगी क्योंकि शायद हममें से कोई भी आदी नहीं हैं क्योंकि हमारे ग्रुप के ज्यादातर क्रिकेटर यहां नहीं खेले हैं।

.
.
.
.
.