Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : दक्षिण अफ्रीका ने लखनऊ के इकाना क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए पहले वनडे मुकाबले में भारत को 9 से हरा दिया। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने आई अफ्रीकी टीम ने मलान और हेनरिक के अर्धशतकों की बदौलत 4 विकेट खोकर 249 रन बनाए थे। जवाब में खेलने उतरी भारतीय टीम की ओर से भले ही श्रेयस अय्यर और संजू सैमसन ने अर्धशतक लगाए लेकिन टीम ने 9 रन से मैच गंवा दिया। भारत को आखिरी ओवर में जीत के लिए 30 रन चाहिए थे, सैमसन ने 21 रन बनाकर दर्शकों की सांसें जरूर बढ़ाई लेकिन वह टीम को जीत नहीं दिला पाए।

इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने जानेमन मलान के 22 गेंदों में 44 तो क्विंटन डी कॉक के 54 गेंदों में 48 रनों की बदौलत अच्छी शुरूआत की थी। लेकिन तभी कुलदीप यादव ने एडन मार्कराम का विकेट निकालकर विंडीज खेमे में चिंता डाल दी। इस दौरान अफ्रीकी कप्तान बावुमा भी 8 रन बनाकर आऊट हो गए थे। साऊथ अफ्रीका 110 रन पर 3 विकेट गंवा चुका था तभी हेनरिक क्लासें व डेविड मिलर ने अर्धशतक जड़कर अपनी टीम को 249 रन तक पहुंचा दिया। भारत की ओर से शार्दुल ठाकुर ने 2 विकेट लिए, जबकि रवि बिश्वोई व कुलदीप को 1-1 विकेट मिला।

 

 
लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरूआत खराब रही। ओपनिंग पर आए शुभमन गिल महज तीन रन बनाकर कागिसो रबाडा की खूबसूरत गेंद पर डाइव लगाने के चक्कर में बोल्ड हो गए। भारत को कप्तान धवन से उम्मीद थी लेकिन वह भी 16 गेंदों में 4 रन बनाकर पर्नेल की गेंद पर बोल्ड हो गए। इसके बाद गायकवाड़ और ईशान किशन ने भारतीय पारी को संभाला। लेकिन जब तक स्कोर 51 तक पहुंचा गायकवाड़ 19 और ईशान 20 दोनों आऊट हो गए। इसके बाद श्रेयस अय्यर और सैमसन ने टीम को संभाला। अय्यर अर्धशतक पूरा करने के बाद एनगिड़ी की गेंद पर आऊट हो गए। लेकिन सैमसन नहीं रुके, उन्होंने शार्दुल ठाकुर के साथ मिलकर स्कोर आगे बढ़ाया। इसी बीच उन्होंने अपना अर्धशतक पूरा किया। 

शार्दुल का जब विकेट गिरा तो टीम इंडिया लक्ष्य का पीछा करती नजर आ रही थी। शार्दुल ने 31 गेंदोंमें पांच चौकों की मदद से 33 रन बनाए थे। लेकिन उनके आऊट होते ही कुलदीप यादव 0, आवेश खान 3 रन बनाकर आऊट हो गए। आखिरी ओवर में भारत को जीत के लिए 30 रनों की जरूरत थी लेकिन संजू टीम इंडिया को लक्ष्य तक पहुंचा नहीं पाए। संजू सैमसन ने 63 गेंदों में 9 चौकों और 3 छक्कों की मदद से 86 रनों की जुझारू पारी खेली। 

 

प्लेइंग 11 

भारत : शिखर धवन (कप्तान), शुभमन गिल, रुतुराज गायकवाड़, श्रेयस अय्यर, ईशान किशन, संजू सैमसन (विकेटकीपर), शार्दुल ठाकुर, कुलदीप यादव, रवि बिश्नोई, मोहम्मद सिराज, अवेश खान

दक्षिण अफ्रीका : जेनमैन मालन, क्विंटन डी कॉक (विकेटकीपर), टेम्बा बावुमा (कप्तान), एडेन मार्कराम, हेनरिक क्लासेन, डेविड मिलर, वेन पार्नेल, केशव महाराज, कैगिसो रबाडा, लुंगी एनगिडी, तबरेज़ शम्सी

.
.
.
.
.