Sports

 

मैनचेस्टर : भारतीय कप्तान विराट कोहली ने महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास के कयासों के बीच बुधवार को यहां कहा कि इस अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज ने भविष्य की अपनी योजनाओं के बारे में उन्हें अभी तक कुछ नहीं बताया है। धोनी ने भारत की विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों 18 रन से हार में 72 गेंदों पर 50 रन बनाए तथा कप्तान ने फिर से बीच के ओवरों में इस विकेटकीपर बल्लेबाज की धीमी बल्लेबाजी के लिए उनका बचाव किया।

कोहली से पूछा गया कि क्या धोनी ने उसे भविष्य की अपनी योजनाओं के बारे में कुछ बताया है क्योंकि वेस्टइंडीज दौरे के लिए जल्द ही टीम घोषित की जाएगी, भारतीय कप्तान ने कहा, ‘नहीं। उन्होंने अभी तक हमें कुछ नहीं बताया है।' धोनी ने जब क्रीज पर कदम रखा तब स्कोर पांच विकेट पर 71 रन था और उन्होंने रविंद्र जडेजा के साथ मिलकर एक समय टीम की उम्मीदें जगा दी थी। कोहली ने कहा, ‘मेरा मानना है कि धोनी ने एक छोर संभालकर जडेजा को स्वच्छंद होकर खेलने की छूट दी। उन्होंने सही तरीके से बल्लेबाजी की। उन्हें टीम की स्थिति के अनुसार खास भूमिका दी गई थी और उन्होंने उसी तरह से बल्लेबाजी की। उन्होंने उस परिस्थिति में शतकीय साझेदारी निभाई।'

भारतीय कप्तान का मानना है कि बाहर बैठकर आलोचना करना आसान होता है। न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने कहा कि धोनी का रन आउट होना टर्निंग प्वाइंट रहा। विलियमसन से पूछा गया कि अगर वह कप्तान होते तो क्या वह धोनी को टीम में बनाये रखते, उन्होंने मजाकिया लहजे में सवाल किया, ‘क्या वह अपनी राष्ट्रीयता बदल रहे हैं?' 

.
.
.
.
.