Sports

दुबई : अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने जिम्बाब्वे और नेपाल की सदस्यता को बहाल कर दिया है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के इस फैसले के बाद जिम्बाब्वे की टीम अगले वर्ष जनवरी में आयोजित होने वाले पुरुष अंडर-19 विश्व कप और आईसीसी सुपर लीग टूर्नामेंट में हिस्सा ले सकेगी।

आईसीसी की सोमवार को हुई बैठक में यह फैसला लिया गया। इस बैठक में आईसीसी के अध्यक्ष शशांक मनोहर, जिम्बाब्वे क्रिकेट के अध्यक्ष तावेंग्वा मुकुहलानी, जिम्बाब्वे की खेल मंत्री क्रिस्टी कोवेंट्री समेत अन्य शामिल हुए। आईसीसी के अध्यक्ष शशांक मनोहर ने इस बैठक के बाद कहा, ‘जिम्बाब्वे क्रिकेट को पुन: पटरी पर लाने की प्रतिबद्धता को लेकर मैं उनकी खेल मंत्री को धन्यवाद देता हूं।

जिम्बाब्वे क्रिकेट के लिए काम करने की उनकी इच्छाशक्ति बहुत ही स्पष्ट है और आईसीसी बोडर् की ओर से तय की गईं शर्तों के मुताबिक उन्होंने काम किया है। जिम्बाब्वे क्रिकेट को पटरी पर लाने के लिए सामूहिक प्रयासों के तहत उसे वित्तीय मदद दी जाती रहेगी। इसके अलावा शर्त के आधार पर नेपाल की आईसीसी सदस्यता भी बहाल की गई है। गौरतलब है कि आईसीसी के नियमों के उल्लंघन के कारण 2016 में नेपाल को आईसीसी ने निलंबित कर दिया था। 

.
.
.
.
.