Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ खेले गए आखिरी वनडे मैच के दौरान भारत ए टीम की तरफ से खेल रहे शिखर धवन की गर्दन पर तेज गेंद लगी थी। इसके बाद फिजियो को धवन की जांच करने मैदान में आना पड़ा था। अब धवन ने बताया है कि किस तरह तेज गेंद लगने के बाद भी उनकी जान बच गई। 

बुधवार को ओणम के मौके पर धवन ने इंस्टाग्राम पर तस्वीर शेयर करते हुए उक्त मैच के दौरान लगी बाउंसर का जिक्र करते हुए लिखा, आप सभी को हैप्पी ओणम। मैंने तिरुवनंतपुरम में स्थिति श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर का दौरा किया था। जहां भगवान से प्रार्थना की, मेरी गर्दन पर इतनी तेज बाउंसर लगने के बावजूद भी मैं पूरी तरह से ठीक रहा। यहां की आरती को अटैंड करना शानदार अनुभव था।’ 

PunjabKesari

दक्षिण अफ्रीका ए और भारत ए के बीच खेले गए पांचवें वनडे मैच के दौरान हेनड्रिक्स की एक गेंद को स्कूप करने की कोशिश में धवन चोटिल हो गए थे। धवन इस गेंद को ठीक से पढ़ नहीं पाए और गेंद सीधे उनके गर्दन के पीछे वाले हिस्से में लगी थी। दर्द से कराहने के कारण फिजियो भी मैदान में उन्हें चैक करने उतरे और फर्स्ट एड दिया। इसके बाद धवन में अपनी पारी पूरी करते हुए 36 गेंदों में 51 रन ठोके जिसमें 5 चौके और 2 छक्के शामिल थे। 

.
.
.
.
.