Sports

जालंधर : भारत में हाकी का संचालन करने वाली संस्था हाकी इंडिया ने पंजाब हाकी के चुनावों में हुई धांधली का कड़ा संज्ञान लेते हुए पंजाब हाकी को निलंबित कर दिया है। हॉकी पंजाब और पंजाब खेल विभाग में पैर पसार चुके ‘खेल माफिया’ के खिलाफ लामबंद इकबाल सिंह संधू ने कहा कि हॉकी इंडिया ने पंजाब के खिलाड़ियों के हितों को ध्यान में रखते हुए दिन-प्रतिदिन के काम के लिए तीन सदस्यीय एडहॉक समिति का गठन किया है जिसमें भोला नाथ सिंह, ओलंपियन बलविंदर सिंह शम्मी और कमांडर आर.के. श्रीवास्तव को क्रमश: अध्यक्ष, सदस्य और संयोजक बनाया है।

Hockey India, Suspends, Hockey Punjab, adhoc committee, Hockey news in hindi, sports news, हॉकी इंडिया, हॉकी पंजाब

हाकी ओलंपियन से राजनेता बने परगट सिंह ने निदेशक खेल पंजाब होते हुए पहली बार साल 2009 में अकाली दल के अध्यक्ष तथा उप मुख्य मंत्री सुखबीर सिंह बादल के साथ मिलकर ‘हॉकी पंजाब’ नामक एक नई हाकी संस्था की स्थापना करके बादल को अध्यक्ष और खुद (परगट सिंह) महासचिव बने थे।

पंजाब हाकी का नियंत्रण अक्टूबर 2009 तक पंजाब पुलिस के पास रहा और डी.जी.पी. पंजाब इसके अध्यक्ष रहे। संधू ने कहा कि 2017 में अकाली सरकार के जाने के बाद ओलंपियन परगट सिंह ने कांग्रेस से हाथ मिलाकर पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल को अध्यक्ष पद से हटाकर स्थानीय व्यवसायी नितिन कोहली को अध्यक्ष नियुक्त किया था। इसके बाद यह दोनों बारी-बारी से आपस में पद बदलते रहे हैं।

Hockey India, Suspends, Hockey Punjab, adhoc committee, Hockey news in hindi, sports news, हॉकी इंडिया, हॉकी पंजाब

पूर्व पी.सी.एस. अधिकारी रहे संधू के मुताबिक हॉकी इंडिया के इस ऐतिहासिक फैसले से पंजाब के सभी हॉकी खिलाडिय़ों और उनके पैरेंट्स में खुशी की लहर दौड़ गई है और उन्हें उम्मीद है कि हॉकी इंडिया ने जैसे हॉकी पंजाब के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है वैसे ही जिला स्तरीय हॉकी एसोसिएशन पर भी कार्रवाई की जाए जिन्होंने कभी जिला हॉकी एसोसिएशन का चुनाव नहीं किया है।

.
.
.
.
.