Sports

नई दिल्ली : हॉकी इंडिया ने अपने ऐतिहासिक तोक्यो ओलंपिक अभियान को बेहतरीन करने की मुहिम में सोमवार को पैट्रिक शुतशानी को महिला टीम का नया विश्लेषक (एनालिटिकल) कोच नियुक्त किया जबकि सीनियर पुरूष और महिला टीमों दोनों के लिए क्रमश: तारेन नायडू और मिशेल पेम्बर्टन को सलाहकार नियुक्त किया। दक्षिण अफ्रीका के शुतसानी इससे पहले कनाडा जूनियर महिला टीम के निदेशक की भूमिका निभा चुके हैं।

उन्होंने 2021 महिला पैन अमेरिका जूनियर चैम्पियनशिप खिताब तक उन्हें कोचिंग दी थी। वह कनाडा की महिला सीनियर टीम के सहायक कोच भी थे। 2009 के बाद से उनके कई अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में शुतसानी हांगकांग महिला टीम के साथ भी सहायक कोच के तौर पर काम कर चुके हैं। वह दक्षिण अफ्रीका की जूनियर महिला टीम के सहायक कोच और मुख्य कोच रह चुके हैं। नायडू भी दक्षिण अफ्रीकी हैं और वह भारतीय महिला टीम के वैज्ञानिक सलाहकार की जिम्मेदारी संभालेंगी।

करीब एक दशक का अनुभव रखने वाली नायडू इससे पहले दक्षिण अफ्रीका की पुरूष और महिला हॉकी दोनों टीमों की मुख्य हॉकी वैज्ञानिक और ‘स्ट्रेंथ एवं कंडिशनिंग' विशेषज्ञ के तौर पर काम कर चुकी हैं। वह दक्षिण अफ्रीकी महिला तोक्यो ओलंपिक टीम की मुख्य खेल वैज्ञानिक और ‘परफोरमेंस विश्लेषक' भी थीं। इनके अलावा आस्ट्रेलिया के पेम्बर्टन भारतीय पुरूष हॉकी टीम के वैज्ञानिक सलाहकार होंगे। वह हॉकी आस्ट्रेलिया के साथ जूनियर पुरूष टीम के ‘स्टेंथ एवं कंडिशनिंग' समन्वयक के तौर पर जुड़े थे। 

हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ज्ञानेंद्रो निंगोम्बाम ने एक बयान में कहा कि तारेन नायडू और मिशेल पेम्बर्टन को क्रमश: भारतीय महिला हॉकी और भारतीय पुरूष हॉकी टीम के लिये वैज्ञानिक सलाहकार के तौर पर बोर्ड में शामिल करना शानदार है।  हम पैट्रिक शुतशानी को भारतीय महिला हॉकी टीम के ‘एनालिटिकल' कोच के तौर पर बोर्ड पर लाकर खुश हैं। हम भारतीय खेल प्राधिकरण का भी शुक्रिया करना चाहेंगे जिन्होंने जल्द से जल्द औपचारिकतायें पूरी कर दीं ताकि ये सभी जल्द से जल्द शिविर से जुड़ सकें। 

.
.
.
.
.