Sports

अहमदाबाद : गुजरात सरकार ने टोक्यो पैरालंपिक खेलों में रविवार को ऐतिहासिक रजत पदक जीतने वाली टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविना पटेल को तीन करोड़ रुपये का इनाम देने की घोषणा की। गुजरात के मेहसाणा जिले के सुंधिया गांव की रहने वाली भाविना ने रविवार को अपने पहले पैरालंपिक खेलों में चीन की विश्व की नंबर एक खिलाड़ी यिंग झोउ से 0-3 से हारकर रजत पदक हासिल किया।

वह दीपा मलिक (रियो पैरालंपिक, 2016) के बाद इन खेलों में पदक जीतने वाली दूसरी भारतीय महिला खिलाड़ी है। गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने गुजरात के मेहसाणा जिले की बेटी भाविना पटेल को पैरालंपिक खेलों में टेबल टेनिस में शानदार उपलब्धियों से देश को गौरवान्वित करने के लिए बधाई दी है। 

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने अपने खेल कौशल से गुजरात और भारत को वैश्विक स्तर पर गौरवान्वित करने के लिए राज्य सरकार की ‘दिव्यांग खेल प्रतिभा प्रोत्साहन पुरस्कार योजना' के तहत भाविना को प्रोत्साहन के रूप में तीन करोड़ रुपये के पुरस्कार की घोषणा की है। 12 महीने की उम्र में पोलियो की चपेट में आने वाली भाविना दो बार की स्वर्ण पदक विजेता झाउ के खिलाफ 19 मिनट में 7-11, 5-11, 6-11 से हार गई। वह हालांकि भारत को मौजूदा पैरालंपिक खेलों का पहला पदक दिलाने में सफल रहीं।  

.
.
.
.
.