Sports

नई दिल्ली: पूर्व भारतीय खिलाडी युवराज सिंह (Yuvraj Singh) के परिवार ने बुधवार को कहा कि उनके भाई जोरावर सिंह (Zoravar Singh) के खिलाफ घरेलू हिंसा के मामले में इस क्रिकेटर का नाम ‘दुर्भावनापूर्ण' कारणों से घसीटा गया लेकिन आरोपी के माफी मांगने के बाद हाल में यह मामला निपट गया। परिवार ने कहा कि युवराज अब राहत की सांस ले सकता है। 

युवराज सिंह और उनके परिवार के खिलाफ झूठे आरोप

PunjabKesari, yuvraj singh photo, yuvraj singh family
जोरावर से अलग रह रही उनकी पत्नी आकांक्षा शर्मा (Akanksha Sharma) ने युवराज के खिलाफ घरेलू हिंसा का मामला दर्ज कराया था। चार महीने की कानूनी लड़ाई के बाद आकांक्षा और जोरावर के बीच इस महीने तलाक हो गया। आकांक्षा ने युवराज और उनके परिवार के खिलाफ झूठे आरोप लगाने के लिए उनसे माफी भी मांगी। युवराज के परिवार ने बयान में कहा, ‘अपने खिलाफ कानून की प्रक्रिया से बचने का कोई तरीका नहीं होने के कारण आकांक्षा शर्मा ने माफी मांग ली है और स्वीकार किया है कि उनके सभी आरोप झूठे और गलत थे। उन्होंने इन आरोपों को वापस ले लिया है।' 

युवराज सिंह पर घरेलू हिंसा का मामला दायर

PunjabKesari, yuvraj singh photo, yuvraj singh family
आकांक्षा ने गुरुग्राम की अदालत में अक्तूबर 2017 में घरेलू हिंसा का मामला दायर कराया था जिसमें युवराज और उनकी मां शबनम सिंह (Shabnam singh) को आरोपी बनाया गया था। परिवार ने कहा, ‘फायदा उठाने की उम्मीद के साथ निजी दुर्भावनापूर्ण कारणों से युवराज की प्रतिष्ठा को दांव पर लगाया गया। हम एक बार फिर युवराज पर गर्व महसूस करते हैं जिन्होंने हमेशा भगवान और इस महान देश की न्यायपालिका पर अटूट विश्वास के साथ वापसी करने का फैसला किया।'

.
.
.
.
.