Sports

दुबई ( निकलेश जैन ) फीडे विश्व शतरंज चैंपियनशिप में लगातार 5 राउंड के मुक़ाबले के बाद 6 राउंड अब तक का सबसे बड़ा मैराथन मुक़ाबला साबित हुआ यह मैच 7 घंटे और 45 मिनट तक चला । विश्व शतरंज चैंपियनशिप के इतिहास मे इससे पहले कारपोव और कोर्चनोई के बीच 1978 मे 124 चालों का मुक़ाबला खेला गया था जो बराबरी पर खत्म हुआ था पर कार्लसन और नेपोमिन्सी के बीच खेला गया मुक़ाबला 136 चालों तक खेला गया ,जिसे विश्व चैम्पियन कार्लसन नें शानदार अंदाज मे जीता ।

PunjabKesari

सफ़ेद मोहरो से खेल रहे कार्लसन नें केटलन ओपनिंग मे थोड़े बदलाव करते हुए नेपो पर दबाव बनाने की  कोशिश की जो सही साबित नहीं हुई और खेल की 35 चालों के आसपास तो उनकी बाजी मुश्किल मे नजर  आने लगी पर नेपोमिन्सी की कुछ गलत चुनाव से कार्लसन की खेल मे वापसी हो गयी और जहां कार्लसन अपने एक घोड़े के साथ एक हाथी और 2 प्यादो के साथ नेपोमिन्सी के अकेले वजीर के खिलाफ एक ऐसी स्थिति बनाने मे कामयाब रहे जहां 136 चालों मे जाकर आखिर वह जीतने मे कामयाब रहे ।

PunjabKesari

इस जीत से 14 राउंड की विश्व चैंपियनशिप मे 6 राउंड के बाद कार्लसन 3.5-2.5 से आगे निकल गए है और अगर अब नजरे नेपोमिन्सी की वापसी पर रहेगी ।

 

.
.
.
.
.