Sports

हॅम्बर्ग ,जर्मनी (निकलेश जैन ) शुरू हुए फीडे ग्रां प्री में भारत के एकमात्र खिलाड़ी और साथ ही फीडे कैंडीडेट में पहुँचने की एकमात्र उम्मीद पेंटाला हरिकृष्णाअब करो या मरो की स्थिति आ गयी है। उनको  पहले राउंड के पहले ही मुक़ाबले में रूस के अनुभवी पीटर स्वीडलर नें पराजित कर दिया।  काले मोहरो से खेलते हुए हरिकृष्णा नें इटेलियन ओपनिंग में शुरुआत तो ठीक की थी और मध्यखेल में उन्होने पीटर के राजा पर दबाव भी बनाने की कोशिश की थी पर वह असफल रहे । खेल की शुरुआती 25 चालों तक खेल लगभग बराबर नजर आ रहा था पर उसके बाद उनके एक हाथी के खेल में शामिल ना होने की वजह से उन पर लगातार दबाव बढ्ने गया और 47 चाल के बाद उन्हे हार माननी पड़ी।  हालांकि पहले दिन जो परिणाम आए उसमें वेसेलीन टोपालोव नें हिकारु नाकामुरा को ,तो मेक्सिम लाग्रेव नें चीन के वे यी को मात दी । बाकी सभी मुक़ाबले ड्रॉ रहे । 

PunjabKesari
अब हरिकृष्णा के लिए इस नॉक आउट फॉर्मेट में आगे जाना किसी भी हाल में जीत दर्ज करने पर ही निर्भर करेगा वरना उनकी फीडे ग्रां प्री से विदाई तय हो जाएगी । जहां तक बात पीटर स्वीडलर है की है उन्हे काले मोहरो से सिर्फ ड्रॉ की दरकार है दूसरे राउंड में पहुँचने के लिए ऐसे में देखना होगा की अगले मैच में वह क्या रणनीति बनाते है। 

 

 

.
.
.
.
.