Sports

लखनऊ : अफगानिस्तान क्रिकेट टीम का घरेलू मैदान जल्दी ही लखनऊ का अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम होगा। भारत के अलावा अफगानिस्तान की दूसरी टीमों के साथ होने वाली क्रिकेट सीरीजों के सभी मैच इसी स्टेडियम में होंगे। इस संबंध में अफगान क्रिकेट बोर्ड और उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ के बीच जल्द ही एमओयू (समझौता पत्र) पर हस्ताक्षर होंगे। ऐसी संभावना है कि नवंबर में अफगानिस्तान और वेस्टइंडीज के बीच होने वाली क्रिकेट सीरीज के सभी मैच लखनऊ के इकाना स्टेडियम में खेले जाएं।

उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ के सचिव युद्धवीर सिंह ने सोमवार को कहा, ‘ऐसी संभावना है कि एक सप्ताह में अफगानिस्तान बोर्ड, यूपीसीए और इकाना मैनेजमेंट के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर होंगे। इसके बाद अफगानिस्तान के सभी घरेलू मैचों का आयोजन लखनऊ में होगा। एमओयू के बाद नवंबर माह में वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम और अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के बीच मैचों की श्रृंखला इसी इकाना स्टेडियम में होगी।' पिछले साल नवंबर में इकाना स्टेडियम में पहला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच भारत और वेस्टइंडीज के बीच टी 20 हुआ था। तब से ही इस स्टेडियम के नाम अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम कर दिया गया था।

इस स्टेडियम की बैठक क्षमता 40 हजार दर्शकों की है और यहां अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सभी सुविधाएं मौजूद हैं। ये स्टेडियम हवाई अड्डे के नजदीक है और यहां कई पांच सितारा होटल भी हैं। सिंह ने कहा कि एमओयू में इसकी व्यवस्था रहेगी कि भारतीय टीम अपने घरेलू मैच यहां खेल सके। इसके अलावा भारत और अफगानिस्तान के बीच होने वाली क्रिकेट सीरीजों में मैच बीसीसीआई के चुने स्थान पर होंगे और यह जरूरी नहीं कि वे लखनऊ में ही हों।

अफगानिस्तान टीम का घरेलू मैदान पहले नोएडा स्टेडियम था जो बाद में देहरादून का स्टेडियम हुआ। सिंह ने कहा, ‘अब अफगान क्रिकेट बोर्ड ने बीसीसीआई से इकाना स्टेडियम को अपना घरेलू मैदान बनाने की बात कही। बीसीसीआई ने यूपीसीए से इस बारे में पूछा। यूपीसीए ने इस पर कोई आपत्ति नही जताई।' विश्व कप में अफगान टीम का सफर बिल्कुल भी अच्छा नहीं रहा और वहां खेले नौ मैचों में से वो एक भी मैच नहीं जीत सकी और अंक तालिका में आखिरी स्थान पर रही। 

.
.
.
.
.