Sports

नई दिल्ली : भारतीय फुटबॉल टीम के खिलाड़ी अनिरुद्ध थापा का मानना है कि फीफा विश्वकप 2022 के क्वालीफायर मुकाबले में एशिया चैंपियन कतर के खिलाफ गोलरहित ड्रॉ खेलना भारतीय फुटबॉल के लिए मील का पत्थर साबित होगा। भारत ने क्वालीफायर में कतर के खिलाफ ड्रॉ खेला था। कतर ने 2019 एएफसी एशिया कप के फाइनल में जापान को 3-1 से हराकर खिताब जीता था।

इस 22 वर्षीय खिलाड़ी ने लाइव चैट के दौरान कहा, ‘50 वर्षों के बाद यह मैच भारतीय फुटबॉल टीम के लिए मील का पत्थर साबित हुआ। टीम का मनोबल ऊंचा था लेकिन किसी ने भी टीम से इस तरह के प्रदर्शन की उम्मीद नहीं की थी। हमारे प्रदर्शन पर किसी ने गौर नहीं किया लेकिन एशिया चैंपियन के साथ ड्रा खेलने से भारतीय फुटबॉल का परिद्दश्य ही बदल गया।' 

उन्होंने कहा, ‘निर्णायक समय के बाद मैच खत्म होने पर नतीजे ने सभी को चौंका दिया था। कतर के खिलाड़यिों का सम्मान करता हूं लेकिन ईमानदारी से कहूं तो उन्होंने भी हम लोगों से ऐसे प्रदर्शन की उम्मीद नहीं की थी। वे चौंक गए थे। उन्होंने उस मुकाबले में हमारे डिफेंस को भेदने की पूरी कोशिश की लेकिन सफल नहीं हो सके।'

थापा ने कहा, ‘किसी एशियाई टीम ने उस टीम ना तो हराया है और उनके खिलाफ ड्रॉ खेला था। कतर की टीम कोपा अमेरिका में अर्जेंटीना, कोलंबिया और पराग्वे जैसी टीम के खिलाफ खेलेगी। हमने उस मुकाबले में अच्छा नतीजा दिया। वो दिन हमारे लिए काफी यादगार है।' 

.
.
.
.
.