Sports

पेरिस : फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के आयोजकों ने बुधवार को कहा कि अगर फ्रांस में कोरोना वायरस की स्थिति स्थिर रहती है तो कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण नहीं लगवाने के बावजूद नोवाक जोकोविच को इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में खेलने की स्वीकृति दी जाएगी। दुनिया के नंबर एक दानिल मेदवेदेव सहित रूस के टेनिस खिलाड़ियों को फ्रेंच ओपन में हिस्सा लेने की स्वीकृति दी जाएगी लेकिन तटस्थ खिलाड़ियों के रूप में। 

रूस ने पड़ोसी देश यूक्रेन के खिलाफ युद्ध शुरू कर दिया है जिसके कारण यह फैसला किया गया। आयोजकों ने कहा कि अभी ऐसी कोई चीज नहीं है जो जोकोविच को इस क्ले कोर्ट ग्रैंडस्लैम में अपने खिताब का बचाव करने से रोके। फ्रांस ने इस हफ्ते अधिक जगहों पर मुंह पर मास्क लगाने से जुड़े नियम हटा दिए और टीकाकरण नहीं करवाने वाले लोगों को रेस्तरां, खेल स्थलों और अन्य स्थलों पर प्रवेश की इजाजत दे दी। 

फ्रेंच ओपन निदेशक एमेली मोरेस्मो ने कहा कि इस समय कोई भी चीज उसे कोर्ट पर वापसी करने से नहीं रोक सकती। टीका-करण नहीं करवाने के कारण जोकोविच को कानूनी लड़ाई के बाद जनवरी में आस्ट्रेलिया से निर्वासित कर दिया गया था जिसके कारण वह आस्ट्रेलियाई ओपन में हिस्सा नहीं ले पाए थे। फ्रेंच टेनिस महासंघ के अध्यक्ष जाइल्स मोरेटन ने कहा कि हालांकि अभी जोकोविच खेलने के लिए स्वतंत्र है लेकिन अगर 22 मई को टूर्नामेंट शुरू होने से पहले वायरस से जुड़ी स्थिति बिगड़ती है तो फ्रांस के अधिकारी नई पाबंदियां लागू कर सकते हैं। मोरेटन ने कहा कि यह हम पर निर्भर नहीं करता। 

.
.
.
.
.