Sports

पुणे : चीन ने जापान को गुरुवार को यहां के श्री शिव छत्रपति स्पोट्र्स काम्पलेक्स में खेले गए एएफसी महिला एशिया कप इंडिया फुटबॉल टूर्नामेंट के सेमीफाइनल मैच में पेनल्टी शूटआउट में जापान को 4-3 से हरा दिया और फाइनल में जगह बना ली। यह शानदार सेमीफाइनल मैच निर्धारित समय की समाप्त पर 2-2 की बराबरी पर रहा था। इसके बाद शूटआउट का आयोजन हुआ, जिसमें आठ बार के चैंपियन चीन की गोलकीपर यू झू ओर कप्तान वांग शानशान स्टार की भूमिका निभाते हुए अपनी टीम को खिताबी मुकाबले की ओर अग्रसर किया। 

चीन की टीम नौवें खिताब पर नजरें गड़ाए सेमीफाइनल में खेलने उतरी जबकि जापान की टीम की नजर एशिया कप की खिताबी हैट्रिक पर थी। जापान ने अपने इरादे शुरुआत से ही जाहिर कर दिए और फिर 26वें मिनट में रिको यूएकी द्वारा किए गए गोल की मदद से 1-0 की लीड भी ले ली। पहले हॉफ की समाप्ति तक यह स्कोर रहा। हाफ टाइम के बाद चीन की चेंगशू वू ने 46वें मिनट में गोल करते हुए स्कोर बराबर कर दिया। इसके बाद कोई गोल नहीं हुआ और निर्धारित समय तक स्कोर 1-1 रहा। 

अतिरिक्त समय के खेल में 103वें मिनट में यूएकी ने एक और गोल करते हुए जापान को 2-1 से आगे कर दिया। ऐसा लगा कि जापानी टीम चीन के रथ को रोक देगी लेकिन कप्तान शानशान ने 119वें मिनट में झांग जिन के क्रास पर गोल कर मुकाबले को शूटआउट तक पहुंचा दिया। शूटआउट में यू झू ने पहला और पांचवां पेनल्टी रोका और फिर शानशान ने विनर लगाते हुए चीन को 2008 के बाद पहली बार फाइनल में पहुंचा दिया। रविवार को होने वाले खिताबी मुकाबले में चीन का सामना दक्षिण कोरिया से होगा, जिसने फिलीपींस को 2-0 से हराकर पहली बार फाइनल में प्रवेश किया है। 

.
.
.
.
.