Sports

नई दिल्ली : रोहन बोपन्ना और दिविज शरण ने तीन मैच प्वाइंट बचाकर शनिवार को यहां डेनमार्क के फ्रेडरिक नीलसन और मिकेल टॉरपेगार्ड की जोड़ी को हराकर भारत को प्लेऑफ मुकाबले में 3-0 से अजेय बढ़त दिलाई और उसका डेविस कप के विश्व ग्रुप एक में स्थान बरकरार रखा। 

फरवरी 2019 के बाद अपना पहला डेविस कप मुकाबला खेल रहे शरण और बोपन्ना ने पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए एक घंटे 58 मिनट तक चले मैच में 6-7 (4), 6-4, 7-6 (4) से जीत हासिल की। इन दोनों की संघर्षपूर्ण जीत से यह भी सुनिश्चित हो गया कि भारत 2022 के सत्र में विश्व ग्रुप एक में बना रहेगा जबकि डेनमार्क अब फिर से विश्व ग्रुप दो में चला जाएगा। 

निर्णायक सेट के 12वें गेम में सर्विस कर रहे शरण को तीन मैच प्वाइंट का सामना करना पड़ा, लेकिन भारतीय टीम ने हौसला बनाए रखा और आखिर में जीत दर्ज की। भारत की नवंबर 2019 में पाकिस्तान को 4-0 से हराने के बाद से यह पहली जीत है। तब रोहित राजपाल ने गैर-खिलाड़ी कप्तान के रूप में पद संभाला था। उसके बाद भारत विदेशो में खेले गए मुकाबलों में फिनलैंड (1-3) और क्रोएशिया (1-3) से हार गया था। बोपन्ना और शरण की जीत से उलट एकल औपचारिक बन गए हैं। 

.
.
.
.
.