Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी आज अपना 29वां जन्मदिन मना रहे हैं। आज उनके जन्मदिन के खास मौके पर हम आपको शमी के जीवन से जुड़े उस खास किस्से के बारे में बताने जा रहे हैं जिस दौरान उन्होंने भाई की नसीहत पर एक पारी में 14 छक्के लगाए थे। ये मैच उनकी जिंदगी के टर्निंग प्वाइंट्स में से था। 

किस्मत से हुए क्रिकेट में एंट्री 

शमी के पिता और भाई क्रिकेट को पसंद करते थे लेकिन उन्हें इस खेल में ज्यादा रुचि नहीं थी। वह चोट लगने के डर के कारण टेनिस बाॅल से खेलना पसंद करते थे। लेकिन जब शमी के बड़ा भाई हसीब का जिला स्तर के टूनामेंट के लिए चयन हुआ तो टीम में एक बल्लेबाज की कमी को पूरा करने के लिए उन्होंने शमी का नाम ले दिया। शमी ने भी बिना कुछ सोचे हां कर दिया। 

PunjabKesari

भाई की नसीहत पर एक पारी में लगाए 14 छक्के 

शमी कभी सीजन गेंद से नहीं खेले थे और उन्हें डर भी लगता था। तेज गेंदबाज और भाई हसीब ने उन्हें सलाह दी कि तुम अपने लिए जगह बना कर बस गेंद को सीधे खेल देना। भाई की नसीहत के बाद शमी ने ऐसा ही किया और उस पारी में 14 छक्के लगाए। उन्होंने कहा कि पहली गेंद बल्ले के बीचों बीच लगी जिसके बाद वह रुके नहीं। शमी बल्ला घुमाते गए और बाउंड्री होती रही। इस मैच के बाद शमी क्रिकेट के प्रति सीरियस हो गए और कड़ी मेहनत के बाद भारतीय क्रिकेट टीम में तेज गेंदबाज के रूप में अपनी जगह बनाई। 

.
.
.
.
.