Sports

सिडनी : भारतीय क्रिकेट टीम के एक प्रशंसक ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी क्रिकेट मैदान (एससीजी) पर खेले गये तीसरे टेस्ट मैच के पांचवें दिन सुरक्षा अधिकारी पर नस्लीय टिप्पणी और दुर्व्यवहार का आरोप लगाया, जिसके बाद इस मैदान के अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं। इससे पहले भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज को इस ड्रा टेस्ट मैच के तीसरे और चौथे दिन दर्शकों द्वारा नस्लीय दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ा था। 

सिडनी निवासी कृष्ण कुमार ने गुरुवार को एनएसडब्ल्यू (न्यू साउथ वेल्स) के विधिक आधिकारी से मुलाकात कर आधिकारिक शिकायत दर्ज करायी जिसमें उन्होंने नस्लीय दुर्व्यवहार और गलत तरीके से जांच करने का आरोप लगाया। सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड की खबर के अनुसार उन्होंने अधिकारियों से कहा कि तीसरे टेस्ट के अंतिम दिन (11 जनवरी) उन्हें ऐसा लगा कि जैसे उनके ‘कपड़े उतारे जा रहे है'। कुमार मैच के दौरान तीन दिनों के खेल के समय मैदान में मौजूद थे। 

उन्होंने आरोप लगाया कि वह चार बैनर लेकर गए थे, जिसके बाद उन्हें निशाना बनाया गया। इन बैनरों पर लिखा था, ‘प्रतिद्वंद्विता अच्छी है, नस्लवाद नहीं है', ‘नस्लवाद नहीं दोस्त', ‘भूरा रंग मायने रखता है', ‘क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया अधिक विविधता अपनाए'। उन्होंने आरोप लगाया कि सुरक्षा अधिकारी ने उनके एक बैनर पर सवाल उठाते हुए वहां से वापस जाने के लिए कहा।

उन्होंने बताया कि सुरक्षा अधिकारी ने कहा, अगर आपको इसका हल निकालना है तो आप वहां चले जाइये जहां से आये है।'' उन्होंने आरोप लगाया कि उस अधिकारी ने जूनियर गार्ड से कहा कि ‘जब भी मैं मैदान पर आऊं तो मेरी पूरी जांच की जाए।' एनएसडब्ल्यू के प्रवक्ता ने बताया कि उन्हें इस मामले के बारे पता है और इसकी जांच कर रहे है।

.
.
.
.
.