Sports

सिडनी : गेंद से छेडख़ानी विवाद के बाद हुए मानमर्दन की शर्मिंदगी झेल रहे आस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों का सिर एशेज में मिली जीत के बाद एक बार फिर फख्र से ऊंचा हो गया है और देश के मीडिया ने टीम की जमकर सराहना की है। 18 बरस पहले आस्ट्रेलियाई क्रिकेट विवादों से घिरा था जब तत्कालीन कप्तान स्टीव स्मिथ, उपकप्तान डेविड वार्नर और सलामी बल्लेबाज कैमरन बेनक्रॉफ्ट पर गेंद से छेडख़ानी के आरोप लगे थे। इससे आस्ट्रेलियाई क्रिकेट पर ऊंगली उठी और खेल भावना पर बहस छिड़ गई। तीनों क्रिकेटरों पर प्रतिबंध लगा और तत्कालीन कोच डेरेन लीमैन को पद छोडऩा पड़ा।

जस्टिन लैंगर को नया कोच बनाया गया और ड्रेसिंग रूम के माहौल में काफी बदलाव आया। अचानक कप्तान बने टिम पेन के नेतृत्व में टीम ने इन बदलावों को आत्मसात किया जबकि मार्गदर्शक की भूमिका में रिकी पोंटिंग और स्टीव वॉ जैसे धुरंधर साथ रहे।

सिडनी डेली टेलीग्राफ ने कहा- कोच जस्टिन लैंगर और स्टाफ की रणनीति से टिम पेन की अगुवाई वाली आस्ट्रेलियाई टीम ने खोया गौरव हासिल किया।
द आस्ट्रेलियन ने लिखा- इस जीत से सारे पाप धुल गए। पिछले 18 महीने की निराशा के बाद आखिर जश्न मनाने का मौका मिला।
फॉक्स स्पोटर्स ने कहा- वी अन्र्ड इट। वहीं चैनल नाइन ने कहा कि ‘लीड्स का भूत’ अब उतर चुका है। एक साल का प्रतिबंध झेलकर वापसी करने वाले स्टीव स्मिथ आस्ट्रेलिया की जीत के सूत्रधार रहे।
सिडनी मार्निंग हेराल्ड ने कहा- इस एशेज को स्मिथ की एशेज के रूप में याद रखा जायगा। स्मिथ ने 134.2 की औसत से 3 शतक समेत 671 रन बना लिए हैं।

टिम पेन ने जीत के बाद कहा- इस टीम पर जितने हमले किए गए, खिलाडिय़ों ने डटकर उनका सामना किया और मुझे अपनी टीम पर गर्व है।
 

.
.
.
.
.