Sports

गोल्ड कोस्ट : सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना की करियर की सर्वश्रेष्ठ नाबाद 80 रन की पारी की मदद से भारत ने आस्ट्रेलियाई के खिलाफ एकमात्र दिन-रात्रि महिला क्रिकेट टेस्ट के वर्षा से प्रभावित पहले दिन गुरुवार को एक विकेट पर 132 रन बनाए। आफ साइड पर कुछ शानदार शॉट लगाने वाली मंधाना ने 144 गेंद में 15 चौकों की मदद से 80 रन बना लिए हैं। उन्होंने पहले विकेट के लिए शेफाली वर्मा के साथ 93 रन की साझेदारी की। शेफाली ने 64 गेंद में 31 रन बनाए।

दूसरे सत्र का अधिकांश खेल बारिश की भेंट चढ़ गया लेकिन इस सत्र में मंधाना 16 रन और जोड़कर 78 रन के अपने पिछले निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को पीछे छोड़ने में सफल रहीं। मंधाना ने ताहलिया मैकग्रा पर डीप स्क्वायर लेग के ऊपर से छक्का जड़ा और फिर इसी गेंदबाज पर मिड विकेट के ऊपर से चौका भी मारा। चाय के समय पूनम राउत (57 गेंद में 16 रन) मंधाना का साथ निभा रही थी। दोनों दूसरे विकेट के लिए 39 रन की अटूट साझेदारी कर चुके हैं। 

इससे पहले आस्ट्रेलिया ने हरी भरी पिच पर टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला लिया लेकिन मंधाना ने उसे गलत साबित कर दिखाया। असल में शेफाली और मंधाना ने अपने पारंपरिक खेल के विपरीत बल्लेबाजी करके आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को चकमा दे दिया। आम तौर पर आक्रामक खेलने वाली शेफाली ने मंधाना के सहायक की भूमिका निभाई।

टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण कर रही डार्सी ब्राउन की गेंदों पर मंधाना ने कई चौके लगाए। मैकग्रा को कवर ड्राइव लगाकर मंधाना ने अपना अर्धशतक पूरा किया। वहीं शेफाली ने अपनी पारी में चार चौके जड़े। उन्हें दो बार जीवनदान भी मिले। पहले स्लिप में मैग लेनिंग ने उनका कैच छोड़ा जबकि बाद में अन्नाबेल सदरलैंड ने मिडआन पर कैच टपकाया। आखिर में मैकग्रा ने बायें हाथ की स्पिनर सोफी मोलिनू की गेंद पर मिडआफ में कैच पकड़कर उन्हें पवेलियन भेजा। 


 
 

.
.
.
.
.