Sports

क्षिंगताई चीन ( निकलेश जैन ) फीडे विश्व कप में जगह बनाने के उदेश्य से 14 एशियाई देश के खिलाड़ी एशियन कॉन्टिनेन्टल शतरंज स्पर्धा में भाग ले रहे है । पुरुष वर्ग में  74 तो महिला वर्ग में 36 खिलाड़ी इस प्रतियोगिता में भाग ले रहे है । भारत की ओर से सबसे बड़ा दल पुरुष वर्ग में 26 तो महिला वर्ग में 8 खिलाड़ी भाग ले रहे है । 

जीतने वाले 5 पुरुष खिलाड़ियों को आगामी शतरंज विश्व कप में जगह मिलेगी जबकि महिला वर्ग से एक खिलाड़ी को विश्व कप के लिए जगह मिलेगी । 

पुरुष वर्ग में भारत के नंबर 3 विदित गुजराती को शीर्ष वरीयता दी गयी है । विदित के लिए यह विश्व कप में खेलने का पहला मौका हो सकता है और अगर ऐसा हुआ तो यह उनके खेल जीवन का बड़ा मौका बन सकता है । 

Starting rank

No.     Name FideID FED Rtg
1   GM Vidit Santosh Gujrathi 5029465 IND 2707
2   GM Le Quang Liem 12401137 VIE 2694
3   GM Firouzja Alireza 12573981 IRI 2682
4   GM Adhiban B. 5018471 IND 2676
5   GM Maghsoodloo Parham 12539929 IRI 2665
6   GM Nguyen Ngoc Truong Son 12401110 VIE 2639
7   GM Jumabayev Rinat 13702661 KAZ 2625
8   GM Lu Shanglei 8603332 CHN 2624
9   GM Sethuraman S.P. 5021596 IND 2613
10   GM Gupta Abhijeet 5010608 IND 2606
11   GM Nihal Sarin 25092340 IND 2606
12   GM Narayanan.S.L 5058422 IND 2603
13   GM Vaibhav Suri 5045185 IND 2599
14   GM Aravindh Chithambaram Vr. 5072786 IND 2598
15   GM Idani Pouya 12510130 IRI 2597
16   GM Karthikeyan Murali 5074452 IND 2593
17   IM Yakubboev Nodirbek 14203987 UZB 2587
18   GM Xu Xiangyu 8608288 CHN 2583
19   GM Lalith Babu M R 5024595 IND 2571
20   GM Zeng Chongsheng 8603847 CHN 2561

जबकि उनके अलावा अधिबन भास्करन को चौंथी वरीयता , सेथुरमन को नौवि वरीयता तो अभिजीत गुप्ता को दसवीं वरीयता दी गयी है ।

PunjabKesari

महिला वर्ग में भारत की भक्ति कुलकर्णी को तीसरी ,ईशा करवाड़े को छठी तो आर वैशाली को नौवि वरीयता दी गयी है । हालांकि इनके अलावा भारत के तीनों फॉर्मेट के चैम्पियन अरविंद चितांबरम , मुरली कार्तिकेयन , वैभव सूरी औयर निहाल सरीन जैसे खिलाड़ियों पर भी भारत की नजर रहगी । 

शुरुआती दो राउंड के बाद पुरुष वर्ग में भारत के सेथुरमन , मुरली कार्तिकेयन और विष्णु प्रसन्ना तो महिला वर्ग में भक्ति कुलकर्णी और एम महालक्ष्मी अपने शुरुआती मैच जीतकर सयुंक्त बढ़त पर आ गए थे । 

 

.
.
.
.
.